Jammu Kashmir में हिन्दू नाम वाले स्थलों का नाम बदलने की हो रही है साजिश

Jammu Kashmir में वैष्णो देवी माता मन्दिर के पुजारी के अनुसार हालात ठीक नही है। यहाँ हिन्दू ऐतिहासिक जगहों के नाम बदले जा रहे हैं । इस बारे में आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत और नेता प्रवीण तोगड़िया, भाजपा प्रमुख अमित शाह को मंदिर के पुजारी ने खुद लेटर लिखा है ऐसी बात चर्चा में है।
वास्तव में कश्मीर में क्या-क्या बदल गया और क्या बदलने वाला है। इस पर गौर करने वाली बात यह है कि श्री नगर में गोपाद्री पहाड़ी है। कश्मीर की यात्रा के समय आदिशंकराचार्य ने इस पहाड़ी पर वर्षोँ तक तपस्या की थी। अतः लोगों ने सैंकड़ो वर्ष ही इस पहाड़ी का नाम शंकराचार्य पहाड़ी रख दिया था जो सरकारी दस्तावेजो में भी मौजूद है। लेकिन अब इस पहाड़ी का नाम सुलेमान टापू रख दिया गया है। हैरानी की बात यह है कि भारत सरकार के एएसआई ने भी अब वहां बोर्ड बदल दिया है जिस पर लिखा हुआ है – सुलेमान टॉपू ।इसी तरह से श्रीनगर में हरि पर्वत है। अब इसका नाम बदलकर कोह महारन रख दिया गया है।
कश्मीर घाटी में एक अनंतनाग जिला है। वहां के लोग अब अनंतनाग को इस्लामाबाद कहने लगे हैं।वे लोग अपने दुकानोंं के उपर इस्लामाबाद लिखने लगे हैं ।नाम बदलने के लिए वहां के लोग आंदोलन कर रहे हैं। सरकारी आश्वासन भी मिल चुका है।

अनंतनाग जिले में एक प्रसिद्ध तीर्थस्थान है- उमानगरी। इसका भी नाम बदलकर शेखपुरा कर दिया गया है

जम्मू-कश्मीर सरकार को अब श्रीनगर नाम भी हजम नहीं हो रहा है। राज्य सरकार श्रीनगर का नाम शहर-ए खास रखने पर कई बार विचार कर चुकी है।

श्रीनगर में जिस चौक पर जामा मस्जिद स्थित है उस चौक का हिंदू नाम बदलकर इस्लामिक नाम मदीना चौक रख दिया गया है।
घाटी में बहने वाली किशनगंगा नदी को अब दरिया-ए-नीलम कहा जाने लगा है। यहाँ हर दिन होने वाले हिन्दू विरोधी दंगे की तो चर्चा तक नहीं करता कोई…..ये सब बदल गया है।पूजारी के अनुसार वह सबको बोल कर थक गया । मीडिया वाले दिखाते नहीं उनको भी बहुत बोला लेकिन वो दिखाने को तैयार नहीं है । बस यहाँ कश्मीरी पण्डित है , वो इसकी लड़ाई लड़ रहे है । मैं कोई हिन्दू-मुस्लिम की बात नही करता लेकिन जो सालों से है जहाँ पर हिन्दु संस्कृति है उसे नष्ट किया जा रहा है । पिछले एक साल में ऐसा क्या हो गया जो नाम बदले जा रहे हैं ।
उसके अनुसार भारतवासी अभी नहीं जागे तो समझो जम्मू -कश्मीर गया हाथ से , जम्मू-कश्मीर में हिंदू मुस्लिम भाई भाई की तरह रहते हैं लेकिन कुछ षड्यंत्रकारी उसमें दरार डालते हैं । क्योंकि कुछ दिनों पहले भारतीय सेना के 22 साल पुराने बंकर हंदवाड़ा में तोड़ दिए गए । नगर निगम के द्वारा तो भी एक भी नेता कुछ नहीं बोला इस बात से समझ जाइए कि कश्मीर के क्या हालात हैं ।
पुजारी ने कहा कि वैष्णो देवी में हालात ठीक नही है तराई क्षेत्र में कई जगहों के नाम बदल दिये है और कई जगहों के नाम को बदलने की तेैयारी है यह वह स्थल है जो कि हिन्दु की विरासत है और उसके यहां होने के प्रमाण है। सरकार को चाहियेे कि तत्काल इस तरह की कारवाई पर रोक लगाये और हिन्दूओं के पौराणिक स्थलों को बचाये नही तो कुछ दिनों बाद हिन्दू वहां के निवासी थे इस बात का प्रमाण भी नही मिलेगा।

courtsey: sanjayjoshi.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »