उलझती जा रही है प्रद्युम्न हत्याकांड की गुत्‍थी

गुरुग्राम। गुरुग्राम के रायन इंटनेशनल स्कूल में हुए 7 साल के प्रद्युम्न की हत्या की गुत्थी उलझती जा रही है। पुलिस की थिअरी पर उठ रहे सवालों के बीच बुधवार को फरेंसिक साइंस लैबरेटरी की टीम ने रायन स्कूल जाकर सबूत जुटाने की कोशिश की। पुलिस ने इस माामले में आरोपी बनाए गए बस के कंडक्टर अशोक के डीएनए सैंपल जांच के लिए करनाल के लैब में भेजे हैं। पुलिस ब्लड टेस्ट के साथ ही पोटेंसी (मर्दानगी) टेस्ट भी करवा रही है।
बता दें कि पूरे देश को हिलाकर रखने वाले इस मामले की अब तक की जांच में हत्या का उद्देश्य सामने नहीं आया है। आरोपी कंडक्टर अशोक पुलिस की गिरफ्त में है। सबसे बड़ा सवाल यही है कि अशोक ने अगर हत्या की है, तो इसकी वजह क्या थी। पुलिस इस ऐंगल से जांच आगे बढ़ा रही है। मंगलवार को प्रद्युम्न की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट भी आ गई और उसमें साफ है कि उसके साथ यौन अपराध नहीं हुआ था। इससे हत्या के मकसद को लेकर गुत्थी और उलझ गई है।
मंगलवार को पुलिस ने बताया कि स्कूल की सुरक्षा में कमियों को देखते हुए इस मामले में रायन इंटरनेशनल स्कूल से जुड़े अन्य अधिकारियों को भी अरेस्ट किया जा सकता है। रायन के भोंडसी कैंपस के पूर्व प्रिंसिपलों से पूछताछ के लिए पुलिस की टीम केरल भेजी गई है।
रायन के भोंडसी कैंपस के अधिकारियों ने जांचकर्ताओं से कहा था कि स्कूल में सुरक्षा पुख्ता करने और कई और बदलाव करने के लिए कई बार मांग की जा चुकी है, लेकिन मैनेजमेंट की ओर से कोई जवाब नहीं मिला।
इसी बीच आरोपी कंडक्टर अशोक का पोटेंसी टेस्ट करवाया गया। पुलिस को शक है की उसने प्रद्युम्न के साथ दुष्कर्म की कोशिश की होगी और उसके विरोध करने पर हत्या कर दी गई होगी।
-एजेंसी