जर्मन पेंटर Oskar Schlemmer ने ‘मानव शरीर’ से दिखाई कला

जर्मनी के मूर्तिकार, चित्रकार और कोरियोग्राफर Oscar Schlemer का आज 130वां जन्मदिन है।
ऑस्कर श्लेमर ने अपनी अनोखी चित्रकारी और कोरियोग्राफी से कला की दुनिया ही बदल डाली थी।

गूगल ने (Google) जर्मनी के मूर्तिकार, चित्रकार और कोरियोग्राफर ऑस्कर श्लेमर (Oskar Schlemmer’s 130th Birthday) का 130वां जन्मदिन गूगल डूडल (Google Doodle) के जरिए मना रहा है। गूगल ने बड़े ही क्रिएटिव तरीके से उनका बर्थडे सेलीब्रेट कर रहा है।

डूडल में एक बल्ब जैसा गोल मेकैनिक फिर को मेटैलिक मास्क पहने हुए एक बैलेट पोज के रूप में दिखाया है जिसके लिए वो काफी फेमस हुए हैं। उनकी पेटिंग इतनी फेमस हुईं जिसकी वजह से आज भी दुनिया उनका लोहा मानती है।

Oskar Schlemmer को उनके काम ‘ट्रायडिश बैलेट’ (Triadisches Ballet) के लिए पर जाना जाता है। इस शैली में व्यक्ति को ट्रायेंगुलर शेप के रूप में स्टेज पर खड़ा किया जाता है। इस स्टाइल को परफॉर्म करने के लिए तीन डांसर होते हैं। जो 18 कॉस्ट्यूम बदलकर ट्रायेंगुलर शेप में 12 अलग-अलग तरीके से मूवमेंट करते हैं। इस स्टाइल में ह्यूमर बॉडी और स्पेस के रिश्ते को दिखाया गया है। ये परफॉर्मेंस अपने आप में काफी कठिन था। ऑस्कर श्लेमर का मानना था कि कोई भी परफॉर्मेंस ‘Artistic Spiritual Mathematics’ होती है जो ‘Physical aesthetics’ के रूप में शुद्ध है।

4 सितंबर 1888 में जन्में ऑस्कर श्लेमर 6 भाई-बहनों में सबसे छोटे थे। वो बचपन से ही कला से काफी जुड़े हुए थे। उसी की वजह से उन्होंने Bauhaus School Of Arts ज्वाइंन किया जिसके बाद ऑस्कर स्टेज रिसर्च प्रोडक्शन के डायरेक्टर रहे।

हिटलर शासन में यानी 13 अप्रैल 1943 को Oscar Schlemer का निधन हो गया।

-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »