किसान की खुदकुशी के मामले में घिरी गहलोत सरकार

जयपुर। राजस्थान के श्रीगंगानगर जिले में एक किसान की खुदकुशी के बाद सवाल उठ रहे है। बताया जा रहा है कि किसान पर करीब सवा लाख रुपये का कर्ज था। किसान ने सुसाइड से पहले बनाए गए एक वीडियो में राज्य के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और डेप्युटी सीएम सचिन पायलट को जिम्मेदार ठहराया है। सोशल मीडिया पर किसान का वीडियो वायरल हो रहा है। इस बीच पूरे मामले को लेकर प्रदेश की सियासत गरमा गई है।
डेप्युटी सीएम सचिन पायलट ने किसान की खुदकुशी पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा, ‘हम मामले की जांच कर रहे हैं। किसान की खुदकुशी दुखद है। अब तक मुझे जो भी जानकारी मिली है, उसके मुताबिक किसान पर शायद कर्ज नहीं था। राजस्थान सरकार प्रदेश के किसानों के बेहतर भविष्य के लिए पूरी तरह प्रतिबद्ध है।’
‘कर्जमाफी का वादा नहीं पूरा हुआ’
45 वर्षीय किसान सोहनलाल ने गहलोत सरकार पर आरोप लगाया कि उसने चुनाव के समय किया गया कर्जमाफी का वादा पूरा नहीं किया। सोहनलाल ने कहा कि वह आत्महत्या करने जा रहे हैं और मेरे घर-परिवार का ध्यान रखना। रविवार को सोहन लाल का लाइव वीडियो देखकर कई लोगों को शक हुआ कि वह आत्महत्या कर सकते हैं। कुछ लोग उन्हें बचाने के लिए उनके घर की ओर भागे। हालांकि, तब तक बहुत देर हो चुकी थी। सोहन लाल ने वीडियो बनाने से पहले ही कथित रूप से जहर खा लिया था, जिसके चलते उनकी मौत हो गई।
सोहनलाल पर 1.23 लाख का कर्ज था
बताया जा रहा है कि किसान सोहनलाल के पास रायसिंह नगर स्थित गांव में छह बीघा जमीन थी और उनके ऊपर 1.23 लाख का कर्ज था। सोहनलाल ने यह कर्ज सिंडीकेट बैंक से लिया था। गहलोत सरकार ने चुनाव में जीत के बाद किसानों का कर्ज माफ करने का ऐलान किया था। लेकिन इसके तहत कोऑपरेटिव बैंक से कर्ज लेने वाले किसानों को ही राहत दी गई है। नेशनलाइज्ड बैंक इसमें शामिल नहीं हैं।
श्रीगंगानगर के एसडीएम संदीप कक्कड़ ने कहा, ‘जांच में पाया गया है कि किसान ने किसी के दबाव में आकर ऐसा कदम उठाया है। वह डिफॉल्टर नहीं था और समय से अपना कर्ज चुका रहा था।’
बता दें कि किसान सोहनलाल ने सुसाइड से पहले फेसबुक पर एक लाइव भी किया और दो पन्नों का एक सुसाइड नोट भी छोड़ा है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »