गौरी लंकेश के भाई ने कहा, नक्सली एंगल से भी की जाए हत्‍या की जांच

पत्रकार गौरी लंकेश हत्याकांड की जांच चल रही है इस बीच उनके भाई इंद्रजीत लंकेश ने नक्सली एंगल से भी हत्या की जांच करने के लिए कहा है। उन्होंने कहा कि उन्हें गौरी की जान पर खतरा होने की पहले से जानकारी थी। उन्होंने कहा कि उन्हें सूत्रों से जानकारी मिली थी कि गौरी लंकेश की जान को खतरा है।
पत्रकार इंद्रजीत ने कहा कि उनकी बहन गौरी लंकेश नक्सलवादियों को मुख्यधारा में लाने के लिए कर्नाटक सरकार के साथ सक्रिय रूप से काम कर रही थीं हालांकि ये पहल उनके पक्ष में नहीं गई।
इंद्रजीत ने खुलासा किया कि उन्हें सूत्रों के जरिए जानकारी मिली थी कि नक्सली ऐसे पैमफ्लेट छपवा रहे हैं जिसमें वो अपने साथी माओवादियों को मुख्यधारा में शामिल होने के खिलाफ चेतावनी दे रहे हैं। हालांकि गौरी लंकेश ने खुद कभी अपने परिवार को नहीं बताया कि उन्हें किसी तरह की धमकी मिल रही है।
एक सवाल के जवाब में इंद्रजीत ने कहा कि उनकी बहन की हत्या की जांच हर एंगल से होनी चाहिए फिर वो चाहे नक्सली हों या हिंदू चरमपंथी।
कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने गौरी लंकेश के परिजनों को उनकी हत्या की जांच के सही दिशा में चलने का भरोसा दिलाया है। इंद्रजीत को इस आश्वासन पर पूरा विश्वास है लेकिन वो इस बात पर जोर दे रहे हैं कि हत्या की जांच सीबीआई को दी जानी चाहिए।
जब उनसे पूछा गया कि क्या वे भाजपा के सदस्य रहे हैं, इंद्रजीत ने जवाब दिया कि वे निर्देशक और पत्रकार हैं और कभी भी भाजपा में शामिल नहीं होंगे। उन्होंने इस बात का भी खंडन किया कि वो और उनकी बहन किसी भी संपत्ति विवाद में शामिल थे।
इंद्रजीत ने कहा कि उनके और उनकी बहन के बीच वैचारिक मतभेदों के कारण थोड़ी दूरियां थीं, लेकिन इसका मतलब ये नहीं कि उन्होंने आपसी संबंध तोड़ लिए थे।
-एजेंसी