Ganga में नाव पलटने से 17 लोग लापता, कई लोग डूबे, राहत कार्य जारी

बिजनौर। उत्तरप्रदेश में बिजनौर के ग्राम देबलगढ़ में आज शुक्रवार को Ganga नदी पशुओं के लिए चारा ले कर लौट रहे गांव डैबलगढ़ के ग्रामीणों की नाव चाहड़वाला के सामने गंगा की तेज धार में पलट गई। नाव में 32 महिला व पुरुष सवार थे। करीब 15 लोग घास की गठ्ठियों को पकड़कर उनके सहारे तैरकर रावली के पास निकल आए। इनमें से 8 को जिला अस्पताल भेजा गया है। नाव में महिलाओ की संख्या ज्यादा थी।

डूबे हुए अन्य करीब 17 लोगों की Ganga में तलाश की जा रही है। हादसे की सूचना मिलते ही पुलिस अधिकारी फोर्स के साथ मौके पर पहुंच चुके हैं।

मौके पर बड़ी संख्या में ग्रामीणों की भीड़ जमा हो गई। बड़ी तादाद में इलाके के लोग भी मौके पर मौजूद हैं और बचाव कार्य अभी जारी है। वहीं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जिला प्रशासन और पुलिस अधिकारियों को तत्काल राहत और बचाव कार्य शुरू करने के निर्देश दिए हैं।

बिजनौर में कोटावाली नदी में आया उफान, टैंकर बहा
वहीं दूसरी ओर आज (शुक्रवार) सुबह बिजनौर के नजीबाबाद की कोटावाली नदी में अचानक जल स्तर बढ़ जाने के कारण रपटा ध्वस्त हो गया। इसके चलते एक टैंकर (यूके 07 CC 757) तेज बहाव के साथ बह गया। टैंकर चालक के बारे मे पता नही चल सका है। चालक का नाम बबलू निवासी माजरी डोइवाला और क्लीनर का नाम राज तिवारी बताया गया है।

भारत पेट्रोलियम कारपोरेशन का एक खाली टैंकर हरिद्वार से नजीबाबाद जा रहा था। जैसे ही टैंकर कोटा वाली नदी के रपटे पर आगे बढ़ा, नदी मे आए तेज बहाव के साथ बह गया। टैंकर के क्लीनर राज तिवारी का कहना है कि वह पहले ही दूसरे टैंकर में बैठकर हरिद्वार से निकल गया था।

टैंकर में दो से तीन लोगो के बैठे होने की भी आशंका जताई जा रही है। चालक के बारे मे अभी कुछ पता नहीं चल सका है। दुर्घटना की सूचना मिलने पर एसडीएम नजीबाबाद डा. पंकज वर्मा, सीओ अरुण कुमार, थाना प्रभारी मंडावली राजीव त्यागी, तहसीलदार हरिद्वार सुनयना राणा, थाना प्रभारी श्यामपुर सुखपाल सिंह मान भी पहुंच गए थे।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »