NZvIND: टीम इंडिया ने न्यूजीलैंड को हराया, 4-1 से सीरीज पर कब्जा

NZvIND के बीच थी पांच मैचों की वन-डे सीरीज 

वेंलिंगटन। NZvIND के बीच आज आखिरी वन-डे में  टीम इंडिया ने आज न्यूजीलैंड को 35 रन से हरा कर 4-1 से सीरीज पर कब्जा कर लिया। अंबाती रायुडू (90), विजय शंकर (45) और अंत में हार्दिक पांड्या की तूफानी पारी (22 गेंदों में 45 रन) की बदौलत टीम इंडिया ने न्यूजीलैंड को आखिरी वन-डे में 36 रन से हराया। इसी के साथ भारतीय टीम ने पांच मैचों की वन-डे सीरीज पर 4-1 से कब्जा कर लिया है।
इससे पहले न्यूजीलैंड को पहला झटका तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी ने दिया। शमी ने हेनरी निकोल्स (8) को शॉर्ट मिड विकेट पर खड़े केदार जाधव के हाथों कैच आउट करवाया। इसके शमी ने न्यूजीलैंड को 37 रन के स्कोर पर दूसरा झटका दिया। शमी ने घातक बनते जा रहे ओपनर बल्लेबाज कॉलिन मुनरो (24) को बोल्ड कर पवेलियन का रास्ता दिखाया। मुनरो ने पारी में एक छक्का और दो चौके लगाए।

NZvIND
NZvIND

कीवी टीम को तीसरा झटका अनुभवी बल्लेबाज रॉस टेलर के रूप में लगा। टीम इंडिया के ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या ने टेलर को महज एक रन के स्कोर पर एलबीडब्ल्यू आउट कर क्रीज से चलता कर दिया। न्यूजीलैंड को चौथा झटका कप्तान केन विलियमसन के रूप में लगा। विलियमसन बड़ा शॉट खेलने के चक्कर में केदार जाधव का शिकार बने। तीन चौकों की मदद से 39 रन बनाने वाले विलियमसन शिखर धवन को कैच थमा बैठे।

विलियमसन के बाद विकेटकीपर-बल्लेबाज टॉम लैथम भी 37 रन के स्कोर पर युजवेंद्र चहल का शिकार हो गए। चहल ने टॉम को एलबीडब्ल्यू आउट किया। इसके बाद बल्लेबाजी करने उतरे कॉलिन डि ग्रैंडहोम (11) को युजी ने एलबीडब्ल्यू आउट किया।

वहीं, अंबाती रायुडू (90), विजय शंकर (45) और अंत में हार्दिक पांड्या की तूफानी पारी (22 गेंदों में 45 रन) के बूते टीम इंडिया ने 49.5 ओवर में सभी 10 विकेट गंवाकर 252 रन बनाए। एक समय भारतीय टीम 9.3 ओवर्स में महज 18 रन पर 4 विकेट गंवा चुकी थी। यहां से टीम को उबारते हुए रायुडू-विजय शंकर ने 98 रन की साझेदारी की फिर रायुडू ने जाधव के साथ मिलकर 74 रन बनाए। आखिर में हार्दिक पांड्या की धुआंधार पारी के बूते ही वेलिंगटन वन-डे में टीम इंडिया 252 रन के सम्मानजनक स्कोर तक पहुंच पाई।

आखिरी वन-डे में भारतीय टीम टॉस ने जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला लिया। इसके पहले भारतीय टीम की शुरुआत निराशाजनक रही। मेहमान टीम ने पांचवें ओवर में ही महज आठ रन के स्कोर पर अपने कप्तान को गंवा दिया। पेसर हेनरी की शानदार आउटस्विंग गेंद पर वे क्लीन बोल्ड हो गए। रोहित 16 गेंदों पर केवल 2 रन ही बना सके।

इसके अगले ही ओवर में पिछले मैच के हीरो रहे ट्रेंट बोल्ट ने शिखर धवन को निपटाया। यह सीरीज में चौथा मौका था जब गब्बर बोल्ट का शिकार बने। शिखर धवन को ट्रेंट बोल्ट ने थर्ड मैन पर मैट हेनरी के हाथों कैच कराया। धवन ने एक चौके की मदद से 13 गेंदों पर 6 रन बनाए।

टीम अभी दो करारे झटकों से उबरी भी नहीं थी कि युवा बल्लेबाज शुभमन गिल एकबार फिर जल्दी आउट हो गए। शुभमन को मैट हेनरी ने कवर पर मिचेल सैंटनर के हाथों लपकवाया। शुभमन ने 11 गेंदों में एक चौके की सहायता से 7 रन बनाए।

तीन विकेट गिरने के बाद अब सारा दारोमदार एमएस धोनी के अनुभवी कंधों पर था। मगर कीवी गेंदबाजों की हवा में तैरती गेंदों का उनके पास भी कोई जवाब नहीं मिला। टीम के स्कोर में अभी एक ही रन जुड़ पाया था कि बोल्ट की लेट स्विंग पर माही ने अपनी लाइन खो दी। नतीजतन उनका ऑफ स्टंप उखड़ गया। धोनी ने 6 गेंदों पर केवल एक रन बनाया।

अंबाती रायडू और विजय शंकर की साझेदारी तब टूट गई जब विजय शंकर केवल 45 रन बनाकर रनआउट हो गए। विजय ने अपनी 64 गेंदों की पारी में 4 चौके लगाए। विजय ने रायडू के साथ 98 रनों की अहम साझेदारी की।

केदार जाधव मैट हेनरी के गेंद पर बोल्ड हो गए. केदार ने 45 गेंदों पर 34 रनों की पारी खेली।

अंबाती रायडू अपने शतक से चूक गए जब 44वें ओवर में मैट हेनरी की गेंद पर बड़ा शॉट लगाने के चक्कर में कॉलिन मुनरो को डीप एक्सट्रा कवर पर कैच देकर आउट हो गए। रायुडू ने अपना 10वां अर्धशतक लगाया।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »