राजीव इंटरनेशनल का Summer Camp: मस्ती के साथ विकास

Summer Camp में प्रधानाचार्य बोले- दो जुलाई-2018 से नियमित कक्षाएं शुरु

मथुरा। आज के शैक्षिक परिवेश में बच्चों के लिए गर्मियों की छुट्टियों का मतलब सिर्फ नाना-नानी या दादा-दादी के घर पर मस्ती मारना नहीं रह गया है। आधुनिक शिक्षा में गर्मी के इस एक माह के अवकाश में इस बचपनी मस्ती के साथ-साथ छात्र-छात्राओं के अंदर छिपी बाल प्रतिभा को खोजकर विकसित करना और उसे प्रोत्साहित करना भी शामिल हो गया है। इससे कल के देश के कर्णधार के व्यक्तित्व का चहुंमुखी होने से वह देश की अपनी पूरी प्रतिभा और शक्ति से सेवा करे सके। ऐसा मानना है राजीव इंटरनेशनल पब्लिक स्कूल के प्रधानाचार्य शैलेंद्र सिंह ग्रेवाल का।

डिजीटल लर्निंग में मथुरा के सर्वश्रेष्ठ स्कूल के पुरस्कार से सम्मानित है राजीव इंटरनेशनल स्कूल

डिजीटल लर्निंग में मथुरा के सर्वश्रेष्ठ स्कूल के पुरस्कार से सम्मानित राजीव इंटरनेशनल स्कूल के प्रधानाचार्य श्री ग्रेवाल ने बताया कि  ग्रीष्मकालीन अवकाश होने के बाद सप्ताह भर के समर कैम्प-2018 का आयोजन भी इसी उद्देश्य की पूर्ति को आयोजित किया था। इसमें बच्चांे को तैराकी, आर्ट एंड क्राफ्ट, ड्राइंग एंड कलरिंग, पेंटिंग, क्रिकेट, जुडो, लाॅन टेनिस, आईटी फंडामेंटल जैसे दर्जनों इंडोर और आउटडोर गेम्स खिलाए गए। साथ ही अंतिम दिवस 31 मई को बच्चों ने स्वयं स्कूल की रसोई में स्वीट्स और खाने पीने की वस्तुएं शिक्षकों की देखरेख में तैयार कीं। श्री ग्रेवाल ने कहा कि राजीव इंटरनेशनल स्कूल में दो जुलाई-2018 से नियमित कक्षाएं शुरु हो रही हैं। उन्हांेने सभी स्कूलों के बच्चों से अपेक्षा की वे अपने-अपने स्कूलों का शिक्षकों द्वारा दिया होमवर्क पूरा करके ले जाएं। इसके पीछे की वजह को स्पष्ट करते हुए कहा कि शैक्षिक गृहकार्य के अलावा उनके स्कूल की ओर से कई तरह के प्रोजेक्ट्स, एक्टीविटीज और खेलकूद के क्रियाकलापों को भी होमवर्क के रुप में दिये गये हैं।

संस्थान में सुविधाओं के साथ-साथ शैक्षिक माहौल होना जरुरी

आरके एजुकेशनल हब के चैयरमेन डा. रामकिशोर अग्रवाल, वाइस चैयरमेन पंकज अग्रवाल और एमडी मनोज अग्रवाल ने कहा कि किसी भी संस्थान में सुविधाओं के साथ-साथ शैक्षिक माहौल होना जरुरी है। उन्होंने राजीव इंटरनेशनल स्कूल को लखनउ में एक समारोह के दौरान डिजीटल लर्निंग में मथुरा जनपद में सर्वश्रेष्ठ घोषित किए जाने पर हर्ष जताते हुए कहा कि ये स्कूल के शिक्षक-शिक्षिकाओं और प्रधानाचार्य की टीम भावना से कार्य करने का परिणाम है। Summer Camp में भी सभी शिक्षक-शिक्षिकाआंे ने मेहनत की, एक दिन जरुर स्कूल प्रदेश में भी अव्वल हो जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »