महिला T20 विश्व कप में इस्तेमाल की जाएगी फ्रंट फुट नो बॉल तकनीक

दुबई। ऑस्ट्रेलिया में होने वाले महिला T20 विश्व कप में फ्रंट फुट नो बॉल तकनीक का इस्तेमाल किया जाएगा।
यह पहला मौका होगा जब ICC किसी वैश्विक टूर्नामेंट में पहली बार इसे लागू करेगी। महिला T20 वर्ल्ड कप की शुरुआत इस महीने के आखिर में होनी है।
इससे पहले फ्रंट फुट नो बॉल तकनीक का इस्तेमाल हाल ही में भारत और वेस्ट इंडीज में सफल प्रयोग के बाद इसके इस्तेमाल का फैसला किया गया।
ICC ने एक बयान में कहा, ‘तीसरा अंपायर हर गेंद के बाद फ्रंट फुट लैंडिंग पोजीशन पर नजर रखेगा। नो बॉल होने पर वह मैदानी अंपायर को इसकी सूचना देगा।’
इसमें कहा गया, ‘मैदानी अंपायरों को निर्देश दिए गए हैं कि फ्रंट फुट नो बॉल पर वह फैसला नहीं लेंगे। बाकी नो बॉल पर हालांकि वे ही फैसला लेंगे।’
हाल ही में 12 मैचों में इस तकनीक का ट्रायल किया गया, जिसमें 4717 गेंदें डाली गईं और उनमें 13 नो बॉल थीं। ICC महाप्रबंधक (क्रिकेट) ज्योफ अलार्डिस ने कहा, ‘क्रिकेट मैच में अधिकारियों की मदद के लिए तकनीक के इस्तेमाल की अच्छी परंपरा रही है। मुझे यकीन है कि इस तकनीक के प्रयोग से ICC महिला टी20 वर्ल्ड कप में फ्रंटफुट नो बॉल में गलतियों की गुंजाइश कम हो जाएगी।’
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *