टेस्ट क्रिकेट में नो बॉल पर हो सकती है Free hit, नए नियम पर चल रही बात

नई दिल्‍ली। टी20 मैच फॉर्मेट सामने आने के बाद टेस्ट क्रिकेट का रोमांच बरकरार रखने के लिए Free hit का नया नियम लाने पर बात चल रही है। क्रिकेट मैच की अहमियत और रोमांच को बरकरार रखने के लिए इसमें किए जा रहे निरंतर बदलावों के अंतर्गत एमसीसी विश्व क्रिकेट समिति ( MCC World Cricket Committee) ने यह प्रस्ताव पेश किए हैं।

क्रिकेट के सीमित प्रारूपों की तरह अब टेस्ट में भी नो बॉल पर Free hit का नियम लागू हो सकता है। टेस्ट क्रिकेट की अहमियत और रोमांच को बरकरार रखने के लिए इसमें किए जा रहे निरंतर बदलावों के अंतर्गत एमसीसी विश्व क्रिकेट समिति ने यह प्रस्ताव पेश किए हैं।

टेस्ट प्रारूप में विभिन्न बदलावों पर गत सप्ताह बेंगलुरू में हुई एमसीसी समिति की बैठक में चर्चा की गई थी और अब इन प्रस्तावों को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) के सामने पेश किया जाएगा। क्रिकइंफो की रिपोर्ट के अनुसार एमसीसी विश्व क्रिकेट समिति के अध्यक्ष एवं पूर्व इंग्लिश कप्तान माइक गैटिंग तथा पूर्व ऑस्ट्रेलियाई लेग स्पिनर शेन वॉर्न ने इन प्रस्तावों की रूपरेखा तैयार की है।

समिति ने खेल के सबसे बड़े प्रारूप में Free hit के नियम को लेकर दलील दी है कि यह नियम सीमित प्रारूप में अब तक बहुत सफल रहा है और इससे गेंदबाजों का नो बॉल करना कम हुआ है। ऐसे में टेस्ट प्रारूप में भी यह नियम लागू होना चाहिए।

शेन वॉर्न ने समझाते हुए कहा,“ समझिए कि मैंने एक गेंद डाली और अंपायर ने उस पर आउट दे दिया और इस पर रेफरल मांगा गया। बाद में पता चला कि यह तो नो बॉल थी, और बल्लेबाज को लगा कि वह तो आउट हो गया जबकि वह आउट था ही नहीं, वहीं उसके बाद उसे इस गेंद पर फ्री हिट मिल रही है। सोचिये कि दर्शक कैसा महसूस करेंगे। दर्शकों का इससे खेल में रेामांच बढ़ेगा और वे घर जाकर भी इस पर बात करेंगे कि बल्लेबाज तो खुद को आउट सोच रहा था लेकिन उसे तो फ्री हिट मिल गयी। दर्शकों में आप इससे रोमांच की कल्पना नहीं कर सकते।”

उन्होंने कहा,“ जब फ्री हिट का नियम टी-20 और वनडे में है तो टेस्ट क्रिकेट में ऐसा क्यों नहीं है। यह नो बॉल की स्थिति में भी मददगार होगा। सोचिए कि इंग्लैंड ने पिछले तीन सालों में वनडे में पहली बार नो बॉल किया है क्योंकि इस पर फ्री हिट मिलती है। टेस्ट क्रिकेट में यह नियम लागू होने पर नो बॉल की संख्या में कमी आयेगी। यह एक बड़ा बदलाव होगा और हम आईसीसी से इसकी सिफारिश करेंगे और उम्मीद है कि वह इस पर संज्ञान लेगा।”

-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »