पूर्व टेस्ट क्रिकेटर, कप्तान और कोच अजीत वाडेकर का निधन

मुंबई। भारत के पूर्व टेस्ट क्रिकेटर, कप्तान और कोच अजीत वाडेकर का मुंबई के जसलोक अस्पताल में निधन हो गया है. वे 77 वर्ष के थे और काफी समय से बीमार थे.
अजीत वाडेकर ने वर्ष 1966 में वेस्टइंडीज़ के ख़िलाफ़ अपना पहला अंतर्राष्ट्रीय मैच खेला था. उन्होंने कुल 37 टेस्ट मैचों में 2000 से अधिक रन बनाए.
भारतीय टीम ने इंग्लैंड को इग्लैंड में हराने का कारनामा पहली बार 1971 में किया और अजीत वाडेकर ही उस टीम के कप्तान थे.
अपने 1971 के इंग्लैंड दौरे को याद करते हुए वाडेकर ने बीबीसी से कहा था, “उस समय भी हमारे पास अच्छे तेज़ गेंदबाज़ नहीं थे और तब स्पिन गेंदबाज़ी और नज़दीकी फील्डिंग ने अच्छी भूमिका निभाई थी.”
अजीत वाडेकर का कहना था कि उस दौरे पर जेफ्री बॉयकॉट का एक नज़दीकी कैच छूट जाता तो उसके बाद शायद वो दोहरा शतक बना देते.
भारत की मौजूद क्रिकेट टीम के कोच और पूर्व क्रिकेटर रवि शास्त्री ने अजीत वाडेकर के निधन पर शोक जताया है और इसे भारतीय क्रिकेट के लिए दुखद घड़ी बताया है.
क्रिकेट कमेंटेटर हर्षा भोगले ने वर्ष 1971 में इंग्लैंड के अलावा वेस्टइंडीज़ में भी टेस्ट सीरीज़ जीतने के भारतीय टीम के कारनामे का ज़िक्र करते हुए अजीत वाडेकर का याद किया है.
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी अजीत वाडेकर के निधन पर शोक जताया है.
एक ट्वीट में उन्होंने कहा है, ”अजीत वाडेकर को भारतीय क्रिकेट में उनके बड़े योगदान के लिए याद किया जाएगा. वो एक महान बल्लेबाज़ और गजब के कप्तान थे. उनके नेतृत्व में हमारी टीम ने जो मुकाबले जीते, वो क्रिकेट इतिहास में सबसे यादगार जीतों में शुमार हैं. उन्होंने एक प्रभावी क्रिकेट प्रशासक के रूप में भी सम्मान कमाया. उनके जाने से तकलीफ़ हुई.”
-BBC

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »