टाटा इंस्टीट्यूट की पूर्व छात्रा ने प्रोफेसर पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया

मुंबई। शैक्षणिक संस्थानों के लिए भारत में मीटू कैंपेन जबकि थमता नजर आ रहा था, तभी टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ सोशल साइंसेज (टीआईएसएस) की एक पूर्व छात्रा ने प्रोफेसर पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया है। संस्थान का कहना है कि उसने संज्ञान लिया है और छात्रा से बात की है। इंस्टीट्यूट ने कहा है कि वह जांच करने के बाद आवश्यक कार्यवाही करेगा।
एक फेसबुक पोस्ट में प्रीती कृष्णन ने लिखा कि जब वह 2004 से 2006 तक संस्थान में एमए कर रही थीं तो उनके एडवाइजर पी. विजयकुमार ने उन्हें अपने शोध पर चर्चा के लिए उन्हें अपने परिसर में बने घर पर बुलाया था। पोस्ट में उन्होंने लिखा, ‘मैंने उनके साथ अच्छी बातचीत की और उनकी एक स्पीकर सीरीज आयोजित करने में मदद की। टीआईएसएस में आखिरी दो-तीन महीनों में चीजें बदलने लगीं।’
‘कई बार ऑफिस में ऐसा हुआ’
प्रीति के अनुसार, प्रोफेसर विजयकुमार ने उन्हें चूमने की कोशिश की। उन्होंने लिखा, ‘उस रात के बाद, उनके कार्यालय और उनके अपार्टमेंट में कुछ और बार ऐसा हुआ।’ टीआईएसएस के प्रबंधन ने कहा कि विजयकुमार 14 नवंबर तक छुट्टी पर है और इस आरोप को संज्ञान में लेकर जांच की जाएगी।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »