जल्द ही RSS के काडर को संबोधित कर सकते हैं पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी

नागपुर। देश के पूर्व राष्ट्रपति और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता प्रणब मुखर्जी जल्द ही राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) के काडर को संबोधित कर सकते हैं। खबर के मुताबिक RSS ने 7 जून को अंतिम वर्ष के स्वयंसेवकों के विदाई संबोधन के लिए पूर्व राष्ट्रपति को आमंत्रित किया है। इस दौरान देश के अलग-अलग हिस्सों से 45 साल से कम उम्र के करीब 800 कार्यकर्ता RSS हेडक्वार्टर कैंप में शामिल होंगे।
इससे पहले कार्यक्रम को ऑफिसर ट्रेनिंग कोर्स (ओटीसी) का तीसरा साल कहा जाता था और अब इसे संघ शिक्षा वर्ग नाम दिया गया है। इसके बाद पासआउट स्वयंसेवक फुल टाइम प्रचारक बन सकते हैं। RSS के सूत्रों ने पूर्व राष्ट्रपति के आरएसएस के इवेंट में शामिल होने के सवाल पर कहा कि सही वक्त आने पर आधिकारिक रूप से घोषणा की जाएगी लेकिन प्रणब को आमंत्रण भेजे जाने की बात उन्होंने स्वीकार की।
पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की अध्यक्षता वाली पहली एनडीए सरकार की तुलना में नरेंद्र मोदी की अगुवाई वाली वर्तमान सरकार को सभी पहलुओं पर आरएसएस के साथ मिलकर काम करते हुए देखा जा रहा है। मोदी सरकार के वरिष्ठ मंत्री भी अक्सर RSS के मुख्यालय का दौरा करते रहते हैं। दो दिन पहले ही रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने RSS मुख्यालय में तीसरे वर्ष के प्रशिक्षुओं को संबोधित करते हुए 5 घंटे बिताए थे और जनरल सेक्रटरी भैयाजी जोशी के साथ वार्तालाप भी की थी।
प्रणब मुखर्जी का RSS हेडक्वार्टर दौरा काफी महत्वपूर्ण देखा जा रहा है। प्रणब (82) कांग्रेस के साथ 1969 से जुड़े हुए हैं तब पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने राज्यसभा सदस्य चुने जाने में उनकी मदद की थी। वह उनके विश्वसनीय नेताओं में से एक थे। केंद्रीय वित्तमंत्री के रूप में प्रणब का पहला कार्यकाल 1982-84 तक रहा।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »