कांग्रेस की पूर्व सांसद अन्‍नू टंडन ने समाजवादी पार्टी का झंडा थामा

लखनऊ। कांग्रेस से इस्‍तीफा देने वाली पूर्व सांसद अन्‍नू टंडन ने अब समाजवादी पार्टी का झंडा थाम लिया है। सोमवार दोपहर को लखनऊ में समाजवादी पार्टी कार्यालय पर आयोजित एक समारोह में पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव ने उनको पार्टी की सदस्यता दिलाई। इस दौरान अन्नू टंडन ने अपने समर्थकों से बांगरमऊ विधानसभ उपचुनाव में समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी को जिताने की अपील की।
कांग्रेस नेता अन्नू टंडन ने बीते 29 अक्टूबर को कांग्रेस पार्टी से इस्‍तीफा दे दिया था। इस दौरान उन्होंने कांग्रेस महासचिव और यूपी कांग्रेस प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा पर कई गंभीर आरोप लगाए थे। अन्नू टंडन ने कहा था कि उन्हें इतना दुख 2019 का लोकसभा चुनाव हारने का नहीं हुआ जितना पार्टी संगठन की तबाही और बिखराव देखकर हो रहा है।
मीडिया मैनजमेंट और व्यक्तिगत ब्रांडिंग में मस्त कांग्रेस आलाकमान
अन्नू टंडन ने आरोप लगाया था कि कांग्रेस आलाकमान सोशल मीडिया मैनजमेंट और व्यक्तिगत ब्रांडिंग में मस्त है। पार्टी और वोटरों के बिखर जाने से उनको कोई लेना-देना नहीं है। पूर्व सांसद ने कहा कि नेक इरादों के बावजूद उनके कुछ सहयोगी और अस्तित्वहीन व्यक्ति उनका झूठा प्रचार कर रहे हैं।
बांगरमऊ सीट पर बदला सकता है समीकरण
उत्तर प्रदेश के उन्नाव जिले की बांगरमऊ विधानसभा पर तीन नवंबर, मंगलवार को मतदान होने वाला है। राजनीति सूत्रों की माने तो अन्नू टंडन के समाजवादी पार्टी में शामिल हो जाने से बांगरमऊ सीट पर उपचुनाव के लिए मतदान पर असर दिख सकता है। उन्होंने समाजवादी पार्टी की सदस्ता ग्रहण करते ही अपने समर्थकों से एसपी प्रत्याशी को जिताने की अपील की है। ऐसे में बांगरमऊ सीट पर लड़ाई दिलचस्प हो गई है। उधर, सूत्रों ने बताया कि कांग्रेस प्रत्याशी आरती वाजपेयी के समर्थन में भी स्थानीय नेता प्रचार करते नहीं दिख रहे हैं।
2009 में सांसद बनीं थी अन्नू टंडन
उत्तर प्रदेश के उन्नाव जिले की रहने वाली अन्नू टंडन ने साल 2009 में उन्नाव लोकसभा सीट पर चुनाव लड़ा था। इस सीट पर स्थानीय नेता होने के चलते अन्नू टंडन को बड़ा फायदा हुआ और वो संसद तक पहुंचने में कामयाब रहीं। हालांकि मोदी लहर के चलते 2014 के लोकसभा चुनाव में अन्नू टंडन चौथे और 2019 के चुनाव में तीसरे नम्बर पर रहीं थीं। अन्नू टंडन ने बीते अक्टूबर महीने में कांग्रेस पार्टी छोड़ दी थी।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *