पहला ऐसा war memorial जहां शहीद जानवरों के नाम दर्ज़ होंगे

मेरठ। मेरठ में देश का ऐसा पहला war memorial बनेगा ज‍िसमें देश के लिए शहीद हुए जानवरों के नाम दर्ज होंगे। यह स्मारक उत्तर प्रदेश के मेरठ स्थित रिमाउंट एंड वेटरनरी कोर (आरवीसी) सेंट्रल एंड कॉलेज में तैयार होगा। यहां 300 डॉग्स, उनके 350 हैंडलर्स, कुछ घोड़ों और खच्चरों के नाम लिखे जाएंगे।

स्मारक के लिए जमीन और प्रारंभिक डिजाइन पहले ही तय हो चुकी है। यह war memorial उन जानवरों की याद में दिलाएगा, जिन्होंने कश्मीर और अन्य जगहों पर आतंकियों के खिलाफ चलाए ऑपरेशन और कारगिल युद्ध के दौरान जान गंवा दी थी। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, मेमोरियल पर जानवर का नाम, सर्विस नंबर सहित सभी तरह की जानकारी उपलब्ध होगी। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, अधिकारियों ने दावा किया कि दिल्ली के नेशनल वॉर मेमोरियल के जैसे ही मेरठ के रिमाउंट एंड वेटरनरी कोर (आरवीसी) केंद्र और कॉलेज में यह स्मारक तैयार होगा। यहां सेना के जानवरों के लिए प्रजनन, पालन और प्रशिक्षण दिया जाता है।

2020 आर्मी डे पर 5 डॉग्स सम्मानित
आर्मी डॉग यूनिट के अधिकारियों के मुताबिक, कश्मीर और पूर्वोत्तर में हुए आतंकवाद रोधी ऑपरेशन में 25 से अधिक डॉग्स जान गंवा चुके हैं। सेना में अभी 1000 डॉग्स, 5000 खच्चर और 1500 के करीब घोड़े सेवारत हैं। आर्मी दिवस 2020 के मौक पर 5 लैब्राडोर को कमांडेशन कार्ड से सम्मानित किया गया था।

टॉप पर मानसी का नाम
कश्मीर के आतंकवाद रोधी अभियानों में विशेष भूमिका निभाने वाली मानसी (एक लैब्राडोर प्रजाति की मादा डॉग) को 2016 में सेना के सम्मान से सम्मानित किया गया था। उसका नाम जानवरों की सूची में सबसे ऊपर है। मान्सी के हैंडलर बशीर अहमद को भी जगह मिली है।

– एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »