रुपया पहली बार डॉलर के मुकाबले 70 के निचले स्तर पर आया

मुंबई। रुपया पहली बार डॉलर के मुकाबले 70 के निचले स्तर पर आ गया। रुपये यह गिरावट लगातार दूसरे दिन हुई है। इससे पहले सोमवार को इसने 69.93 का आंकड़ा छू लिया था और आज यह डॉलर के मुकाबले 69.84 पर खुलने के बाद 70.085 के सबसे निचला स्तर पर आ गया।
विपक्षी पार्टियों ने रुपये की इस रेकॉर्ड गिरावट पर मोदी सरकार को निशाने पर लेने लगी हैं। कांग्रेस पार्टी ने ट्वीट कर कहा कि आखिरकार मोदी सरकार ने वह कर दिखाया जो 70 सालों में कभी नहीं हुआ था। उधर, आम आदमी पार्टी ने भी ट्वीट किया कि ‘जनता झेल रही है मार, रुपया पहुंचा 70 के पार, अब तो जागो मोदी सरकार!’
तुर्की की करंसी लीरा ने बिगाड़ी रुपये की सेहत
तुर्की की करंसी लीरा की वैल्यू में भारी गिरावट आने के बाद इमर्जिंग देशों की मुद्राओं में कमजोरी आई है, जिसकी गिरफ्त में सोमवार को रुपया भी आ गया। इस दिन इसमें पांच साल की सबसे बड़ी गिरावट आई। रुपया 1.58 पर्सेंट की गिरावट के साथ 68.93 के रिकॉर्ड लो लेवल पर पहुंच गया था।
RBI ने भी हाथ खड़े किए
ऐसी अटकलें हैं कि बिकवाली इतनी तेज थी कि रिजर्व बैंक ने भी रुपये में कमजोरी को रोकने की कोशिश नहीं की। सोमवार देर शाम को डेरिवेटिव मार्केट में डॉलर के मुकाबले रुपया 70 का लेवल पार कर चुका था। इससे पता चलता है कि भारतीय मुद्रा में अभी बिकवाली रुकी नहीं है।
अमेरिकी सख्ती का असर
तुर्की से मेटल इंपोर्ट पर अमेरिका द्वारा दोगुनी इंपोर्ट ड्यूटी लगाने के फैसले के बाद फॉरेक्स मार्केट में भूचाल आ गया। तुर्की की करंसी लीरा जो कि पहले से ही बेहाल थी, अब निचले स्तर का नया रेकॉर्ड बना रही है। इस साल इसमें करीब 40 फीसदी की गिरावट आ चुकी है। इसका असर सोमवार को भारतीय रुपये पर पड़ा।

सरकार ने कहा, घबराने की जरूरत नहीं
डॉलर के मुकाबले रुपये की वैल्यू में लगातार गिरावट के बीच केंद्र सरकार की तरफ से डैमेज कंट्रोल की कोशिशें शुरू हो गई हैं। वित्त मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारी ने मंगलवार को बयान जारी कर कहा कि लोगों को इससे घबराने की जरूरत नहीं है। सरकार का मानना है कि कुछ दिनों में रुपया फिर से मजबूती हासिल कर लेगा।
सरकार का आश्वासन
आर्थिक मामलों के सचिव सुभाष चंद्र गर्ग ने रुपये में जारी ऐतिहासिक गिरावट पर सरकार का पक्ष रखते हुए कहा, ‘स्थिति फिलहाल चिंताजनक नहीं है। यह गिरावट बाहरी कारकों की वजह से हो रही है इसलिए आगे जाकर इसमें सुधार होने की उम्मीद है।’ गर्ग का बयान ऐसा वक्त में आया है जब रुपया डॉलर के मुकाबले पहली बार 70 के पार (7.085 रुपये) पहुंच गया और कांग्रेस, आम आदमी पार्टी जैसी विपक्षी पार्टियां सरकार पर हमलावर हैं।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »