20 सितंबर को भारत आएगा पहला Rafale, रक्षामंत्री स्वयं जाऐंगे लेने

नई द‍िल्ली। भारत को अपना पहला Rafale फाइटर जेट जल्द मिलने वाला है। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और भारतीय वायुसेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल बीएस धनोआ 20 सितंबर को फ्रांस दौरे पर जा रहे हैं। इसी दौरान फ्रांसीसी फर्म डसॉल्ट एविएशन द्वारा निर्मित पहला Rafale फाइटर जेट भारत को मिलेगा।

रक्षा मंत्रालय के अधिकारियों ने एएनआइ को बताया कि रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के नेतृत्व में एक बड़ी टीम को केंद्र सरकार द्वारा 20 सितंबर को राफेल विमान लेने के लिए भेजा जा रहा है। रक्षा मंत्री और भारतीय वायुसेना प्रमुख को फ्रांस के अधिकारी पहले राफेल विमान को निर्माण संयंत्र के पास से सौपेंगे।

अधिकारियों ने कहा कि भारतीय राफेल फ्रांस की वायुसेना द्वार इस्तेमाल किए जा रहा विमान की तुलना में कहीं अधिक उन्नत है। इसी वजह से अगले साल मई तक भारतीय पायलटों को प्रशिक्षित करना जारी रहेगा। बता दें कि भारत ने 36 राफेल लड़ाकू जेट के लिए फ्रांस के साथ समझौते पर हस्ताक्षर किया है। विमानों की खेप फ्रांस से अगले साल मई से भारत पहुंचना शुरू हो जाएगा।

एक रक्षा अधिकारी ने बताया, योजना के मुताबिक केंद्र सरकार की ओर से रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के नेतृत्व में एक प्रतिनिधिमंडल फ्रांस जाएगा और राफेल विमान को भारत लाएगा। भारत ने फ्रांस से 36 राफेल लड़ाकू विमानों की खरीद के लिए करार किया है।

ये विमान अगले साल मई तक भारत में पहुंचने शुरू हो जाएंगे। राजनाथ सिंह और वायुसेना के चीफ फ्रेंच अथॉरिटीज से बॉरडीऑक्स में प्लेन मैन्युफैक्चरिंग प्लांट में राफेल विमान रिसीव करेंगे।

अधिकारियों के मुताबिक फ्रांस की कंपनी भारत को जो राफेल विमान देने वाली है, वह फ्रांस की वायुसेना के बेड़े में शामिल लड़ाकू विमान से भी अडवांस हैं। बता दें कि राफेल लड़ाकू विमानों के भारत पहुंचने से पहले ही भारतीय पायलटों ने इन्हें चलाने का प्रशिक्षण ले लिया है।

– एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »