साल 2018 का पहला चंद्रग्रहण 31 january को

नई दिल्‍ली। माघ माह की पूर्णिमा यानी 31 january को दुर्लभ पूर्ण चंद्रग्रहण होगा। यह 2018 का पहला ग्रहण होगा। पूर्ण चंद्रग्रहण 77 मिनट तक रहेगा। अलग-अलग ज्योतिषियों की मानें तो सूतक सुबह 7 बजे से शाम 8 बजकर 41 मिनट तक रहेंगे। ज्योतिषियों के अनुसार सूतक के समय और चंद्रग्रहण के समय कुछ काम करने से बचना चाहिए। मध्य एवं पूर्वी एशिया, इंडोनेशिया, न्यूजीलैंड और ऑस्ट्रेलिया में चंद्रग्रहण दिखाई देगा।

इस महीने की 31 तारीख को दुर्लभ पूर्ण चंद्रग्रहण होगा जिसमें महीने में दूसरी बार पूर्णिमा होगी।

‘ब्ल्यू मून’ अर्थात ‘नीला चांद’ कहलाने वाला यह नजारा 150 साल से ज्यादा समय बाद दिखाई देगा

‘ब्ल्यू मून’ अर्थात ‘नीला चांद’ कहलाने वाला यह नजारा 150 साल से ज्यादा समय बाद दिखाई देगा। यह 2018 का पहला ग्रहण होगा। भारतीय उपमहाद्वीप, पश्चिम एशिया और पूर्वी यूरोप में चांद के उदय के दौरान पहले से ही ग्रहण लगा रहेगा।

उस समय प्रशांत महासागर चंद्रमा की सीध में होगा और ग्रहण मध्यरात्रि में होगा। मध्य एवं पूर्वी एशिया, इंडोनेशिया, न्यूजीलैंड और आस्ट्रेलिया के अधिकतर हिस्से में शाम को आसमान में चंद्रग्रहण का नजारा साफ-साफ दिखेगा।

अमरीका के अलास्का और हवाई एवं कनाडा के उत्तर-पश्चिमी हिस्से में ग्रहण शुरू से अंत तक दिखेगा। पूर्ण चंद्रग्रहण 77 मिनट तक रहेगा। इस दौरान चंद्रमा का निचला हिस्सा ऊपरी हिस्से की तुलना में ज्यादा चमकीला दिखेगा।

चंद्र ग्रहण के समय मंदिर के दरवाजे बंद कर देने चाहिए और किसी भी भगवान की मूर्ति को हाथ नहीं लगाना चाहिए।

इस समय तुलसी, शमी वृ्क्ष को छूना नहीं चाहिए।

गर्भवती महिलाओं को विशेष सावधानी बरतनी चाहिए। ग्रहण के समय घर से बाहर न निकलें।

ग्रहण के समय भोजन करना, भोजन पकाना, सोना नहीं चाहिए।

इस दौरान सब्जी काटना, सीना-पिरोना आदि से बचना चाहिए।

31 january मध्य एवं पूर्वी एशिया, इंडोनेशिया, न्यूजीलैंड और आस्ट्रेलिया के अधिकतर हिस्से में शाम को आसमान में चंद्रग्रहण का नजारा साफ-साफ दिखेगा।

-एजेंसी