JNU में हिंसा को लेकर FIR दर्ज, कैंपस में पुलिस का फ़्लैग मार्च

नई दिल्‍ली। JNU (जवाहर लाल यूनिवर्सिटी) में बीती शाम हुई हिंसा, तोड़फोड़ एवं हंगामे के बाद कई जगह प्रदर्शन हो रहे हैं और नक़ाबपोश हमलावरों की पहचान कर उन्हें गिरफ़्तार करने की मांग हो रही है. अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) और वामपंथी छात्र संगठन हिंसा के लिए एक दूसरे पर आरोप लगा रहे हैं.
समाचार एजेंसी एएनआई ने दिल्ली पुलिस के हवाले से ट्वीट किया है कि JNU में हुई हिंसा को लेकर FIR दर्ज कर ली गई है. मानव संसाधन विकास मंत्रालय के सचिव ने JNU के रजिस्टार, प्रोक्टर और रेक्टर को आज अपने ऑफ़िस बुलाया है.
वहीं, JNU के वाइस चांसलर जगदीश कुमार ने ट्विटर पर विश्वविद्यालय प्रशासन का बयान पोस्ट किया है और लिखा है, “JNU प्रशासन कैंपस हिंसा का शिकार हुए घायल छात्रों के लिए बेहद दुखी और चिंतित है. JNU प्रशासन कैंपस में किसी भी तरह की हिंसा की कड़ी निंदा करता है.”
समाचार एजेंसी पीटीआई ने दिल्ली पुलिस के हवाले से कहा है कि JNU कैंपस में फ़्लैग मार्च किया गया है और स्थिति नियंत्रण में है. वहीं, मानव संसाधन मंत्रालय ने JNU रजिस्ट्रार से कैंपस की स्थिति पर तुरंत रिपोर्ट मांगी है.
गृह मंत्रालय ने ट्वीट किया है कि गृह मंत्री अमित शाह ने दिल्ली पुलिस कमिश्नर से JNU हिंसा पर बात की है और उन्हें आवश्यक कार्यवाही के निर्देश दिए हैं.
गृह मंत्री ने संयुक्त पुलिस आयुक्त स्तर के अधिकारी से इस मामले की जांच कराने के आदेश दिए हैं और जल्द से जल्द रिपोर्ट जमा करने के लिए कहा है.
केंद्रीय मानव संसाधन मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने JNU में हुई हिंसा को दुर्भाग्यपूर्ण बताया है. उन्होंने सभी छात्रों से विश्वविद्यालय में शांति और उसका गौरव बनाए रखने की मांग की है.
दिल्ली स्थित मशहूर जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय के परिसर में रविवार शाम कई नक़ाबपोश हमलावरों ने हमले किए. हमालवरों ने हॉस्टलों में जाकर तोड़-फोड़ की और छात्रों पर हमला किया.
सोशल मीडिया पर वायरल तस्वीरों और वीडियो में हमलावरों को मुंह पर कपड़ा बांधे, हाथों में लोहे के रॉड और डंडे लिए विश्वविद्यालय परिसर में देखा जा सकता है.
चश्मदीदों का कहना है कि जेएनयू कैंपस में 50 से ज़्यादा लोग घुस आए और हमला करने लगे. हमले में JNU छात्रसंघ की अध्यक्ष आइशी घोष भी बुरी तरह घायल हुई हैं.
एबीवीपी और वाम दल छात्र संघ के सदस्य एक दूसरे को हिंसा के लिए ज़िम्मेदार ठहरा रहे हैं. दिल्ली पुलिस का कहना है कि उसने रविवार रात कैंपस में फ़्लैग मार्च किया है और फ़िलहाल हालात काबू में हैं.
जेएनयू पिछले कुछ महीनों से उथल-पुथल का केंद्र बना रहा है.
-BBC

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *