वेब सिरीज़ ‘तांडव’ को लेकर लखनऊ के हज़रतगंज थाने में FIR दर्ज

लखनऊ। अमेज़न प्राइम वीडियो पर 15 जनवरी को रिलीज़ हुई वेब सिरीज़ ‘तांडव’ को लेकर लखनऊ के हज़रतगंज थाने में FIR दर्ज कराई गई है. FIR में कहा गया है कि इस सिरीज़ में हिंदू देवी-देवताओं का अपमान किया गया है और जातीय भेदभाव से भरी टिप्पणी की गई है. इस वेब सिरीज़ के रिलीज़ होने के बाद से ही इस पर विवाद शुरू हो गया है. कई संगठन और बीजेपी नेता इस पर प्रतिबंध लगाने की मांग कर रहे हैं. ये FIR अमरनाथ यादव नाम के सब-इंस्पेक्टर ने दर्ज कराई है जो खुद हज़रतगंज थाने में तैनात हैं.

FIR regarding web series 'Tandava'
FIR regarding web series ‘Tandava’

जानकारी के मुताबिक अमेज़न प्राइम वीडियो की ओरिजिनल कंटेंट हेड अपर्णा पुरोहित, वेब सीरीज़ के निर्देशक अली अब्बास जफ़र, निर्माता हिमांशु कृष्ण मेहरा, लेखक गौरव सोलंकी सहित एक अन्य के ख़िलाफ़ मुक़दमा दर्ज कराया गया है.
FIR में सिरीज़ के कुछ दृश्यों और संवादों पर आपत्ति जताते हुए कहा गया है, “वेब सीरीज़ के पहले एपिसोड के 17वें मिनट में हिंदू देवी-देवताओं को गलत ढंग से रूप धारण कर धर्म से जोड़कर अमर्यादित तरीके से बोलते दिखाया गया है. ये धार्मिक भावनाओं को भड़काने वाला है. इसी तरह पहले एपिसोड के 22वें मिनट में जातिगत द्वेष फ़ैलाने वाले संवाद का इस्तेमाल किया गया है. पूरी वेब सिरीज़ में प्रधानमंत्री जैसे गरिमामय पद को ग्रहण करने वाले व्यक्ति का चित्रण अत्यंत अशोभनीय ढंग से किया गया है और जातियों को छोटा-बड़ा दिखाकर विभक्त करने वाले और महिलाओं का अपमान करने वाले दृश्य हैं.”
साथ ही निम्न स्तरीय भाषा का प्रयोग किया गया है, जो धार्मिक भावनाओं को भड़काने वाला और आघात पहुंचाने वाला है. ऐसे ही संवाद और भी एपिसोड में मौजूद हैं.
FIR में ये आरोप भी लगाए गए हैं कि सिरीज़ की मंशा एक समुदाय विशेष की धार्मिक भावनाओं को भड़काकर वर्ग विद्वेष फैलाने की है.
9 एपिसोड वाली इस सीरीज़ के रीलीज़ होने के दो दिन के भीतर इसे लेकर विरोध के स्वर सोशल मीडिया पर सामने आने लगे हैं. इन विरोध कर रहे लोगों में सत्तारूढ़ पार्टी बीजेपी से जुड़े लोग भी शामिल हैं.
बीजेपी नेता कपिल मिश्रा ने एक लीगल नोटिस भेजकर अमेज़न इंडिया से ये वेब सीरीज़ प्लेटफॉर्म से हटाने को कहा है.
कपिल मिश्रा ने ये भी दावा किया है कि सूचना और प्रसारण मंत्रालय की ओर से अमेज़न प्राइम को तांडव सिरीज़ को लेकर नोटिस भेजा गया है.
उनका कहना है कि मंत्रालय ने इस पर तुरंत जवाब मांगा है.
दूरदर्शन ने भी ट्वीट कर कहा है कि सूचना और प्रसारण मंत्रालय ने इस वेब सिरीज़ को लेकर अमेज़न प्राइम से सफाई देने को कहा है.
इसके अलावा उत्तर प्रदेश सरकार में मीडिया सलाहकार शलभ मणि त्रिपाठी ने ट्वीट किया, “जन भावनाओं के साथ खिलवाड़ बर्दाश्त नहीं, घटिया वेब सिरीज की आड़ में नफ़रत फैलाने वाली वेब सीरीज तांडव की पूरी टीम के खिलाफ़ योगीजी के उत्तर प्रदेश में गंभीर धाराओं में मामला दर्ज, जल्द गिरफ्तारी की तैयारी.”
तांडव एक पॉलिटिकल ड्रामा है जिसमें कॉलेज राजनीति से लेकर देश की राजनीति तक, सत्ता पाने की जद्दोजहद को दिखाया गया है. इसमें सैफ़ अली ख़ान, डिंपल कपाड़िया और ज़िशान अयूब मुख्य भूमिका में हैं.
बहुजन समाज पार्टी की प्रमुख मायावती ने कहा है कि शान्ति, सौहार्द व आपसी भाईचारे का वातावरण ख़राब न हो इसके लिए सिरीज़ में जो भी आपत्तिजनक दृश्य़ हैं उन्हें हटा दिया जाना उचित होगा.
-BBC

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *