वित्त मंत्री तारकिशोर प्रसाद ने पेश किया बिहार का बजट

पटना। नीतीश कुमार सरकार की ओर से आज 2021-22 के लिए बिहार का बजट पेश किया गया। डिप्टी सीएम तारकिशोर प्रसाद ने पहली बार बतौर वित्त मंत्री विधानसभा में बजट पेश किया। उन्होंने अपने बजट भाषण की शुरूआत शायरी से की। उन्होंने कहा कि कोरोना की वजह से अर्थव्यवस्था पर दबाव बढ़ा। वहीं बजट से पहले विधानसभा में विपक्ष ने जमकर हंगामा किया। रोजगार, पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दाम और धान अधिप्राप्ति समेत अलग-अलग मुद्दों को लेकर सरकार पर निशाना साधा।
युवाओं को लेकर वित्त मंत्री ने किए ये बड़े ऐलान
वित्त मंत्री ने बजट भाषण के दौरान कहा कि युवाओं को स्वालम्बी बनाने की दिशा में काम किया जा रहा है। उन्हें स्किल्ड करने के लिए भी मेगा स्किल सेंटर खोला जाएगा। राज्य के आईटीआई और पॉलिटेक्निक सेंटर को आधुनिक बनाया जाएगा। श्रम संसाधन में 550 करोड़ खर्च किया जाएगा।
नीतीश कुमार के सात निश्चय योजना पर बजट में खास फोकस
वित्त मंत्री ने कहा कि बिहार के विकास के लिए 2015 में 7 निश्चय योजना शुरू की गई। इसके तहत लगातार काम किया जा रहा है। 4671 करोड़ रुपये 7 निश्चय पार्ट-2 की राशि। हर घर बिजली के तहत गांवों में बिजली पहुंचाया जा रहा। हर घर नल का जल पहुंचाया जा रहा है। अब तक 479680 लाभुकों को लाभान्वित किया गया। महिलाओं के 35 फीसदी आरक्षण की व्यवस्था की गई।
वित्त मंत्री तारकिशोर प्रसाद बोले, बाधाओं-आपदाओं से हम घबराते नहीं
वित्त मंत्री तारकिशोर प्रसाद ने विधानसभा में बजट पेश करते हुए कहा कि कोरोना संकट के दौरान लॉकडाउन से आर्थिक गतिविधियां रूकीं। बाधाओं-आपदाओं से हम घबराते नहीं हैं। कोरोना का संकट अभी टला नहीं है। वैक्सीनेशन का काम तेजी से चल रहा है। वैज्ञानिक दो वैक्सीन बनाने में सफल हुए। कोरोना से बिहार का रिकवरी रेट 99 फीसदी रहा। बिहार में टीकाकरण की रफ्तार सबसे तेज रही है।
मंत्री प्रमोद कुमार बोले, बंद पड़ी चीनी मिलों को शुरू करने के हो रहे प्रयास
बिहार के गन्ना उद्योग विभाग के मंत्री प्रमोद कुमार ने कहा कि बिहार में बंद पड़ी चीनी मिलों को शुरू करने की दिशा में प्रयास किया जा रहा है। प्रदेश में चीनी मिल उद्योग लगाने वालों का स्वागत किया जाएगा। उन्हें हर तरह की सुविधा मुहैया कराई जाएगी। उन्होंने एथेनॉल के प्रोडक्शन की बात करते हुए कहा कि बिहार में एथेनॉल का निर्माण प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पांच ट्रिलियन की अर्थव्यवस्था को भी गति देगी।
नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव बोले, केंद्र देश के किसानों का अहित कर रही
बजट सत्र को लेकर सोमवार को नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ट्रैक्टर पर सवार होकर विधानसभा पहुंचे। इस दौरान आरजेडी नेता ने कहा कि केंद्र सरकार देश के किसानों का अहित कर रही है। किसानों के समर्थन में ही ट्रैक्टर लेकर विधानसभा पहुंचे हैं।
बिहार विधानसभा में विपक्ष का हंगामा, आरजेडी MLA ने सरकार को घेरा
बजट से ठीक पहले तमाम विपक्षी पार्टियों ने बिहार विधानसभा के मुख्य प्रवेश द्वार पर जोरदार तरीके से हंगामा किया। विपक्षी नेताओं का कहना था कि सरकार रोजगार और धान अधिप्राप्ति को लेकर अपने किए गए वादे से पीछे हट रही है। इसके अलावा बिहार में बढ़ते अपराध पर भी सरकार जवाब नहीं दे रही है। आरजेडी विधायक भाई वीरेंद्र ने कहा कि किसानों के साथ अन्याय पर सरकार को पछताना पड़ेगा।
विधान परिषद में बोले शाहनवाज हुसैन, भागलपुर सिल्क उद्योग को आगे बढ़ाने का कर रहे काम
बिहार विधान मंडल में बजट सत्र के दौरान विधान परिषद में पहली बार बीजेपी विधान पार्षद सैयद शाहनवाज हुसैन ने प्रश्न का जवाब दिया। उन्होंने भागलपुर सिल्क सिटी के विषय में जानकारी देते हुए कहा कि सरकार ने तय किया है कि जो भी जमीन वियाडा के जरिए लिया गया था या सरकार के पास है। जो भी यूनिट है उस पर उद्योग लगाना और उसमें रोजगार देना सरकार की प्रतिबद्धता है। भागलपुर सिल्क दुनिया में मशहूर है इस को आगे बढ़ाने की दिशा में काम कर रहे हैं। वहां हेल्थ सेंटर स्टूडेंट हॉस्टल और पार्क भी बनाने का काम किया जा रहा है।
भागलपुर सिल्क सिटी पर कांग्रेस नेता अजीत शर्मा ने किया था सवाल
भागलपुर सिल्क सिटी पर उद्योग मंत्री शाहनवाज हुसैन से कांग्रेस विधान मंडल दल के नेता अजीत शर्मा ने सवाल किया था। अजीत शर्मा ने पूछा कि क्या यह बात सही है भागलपुर के बिहार स्पन सिल्क मिल और विक्रमशिला स्पीनिंग मिल के वर्षों से बंद रहने के कारण हजारों मजदूर बेरोजगार हो गए। उनका दूसरा प्रश्न था की अगर यह बात सही है तो सरकार बताए कि पुराने बंद पड़े यार्न मिल के स्थापना करने का विचार अगर रखती है तो सरकार बताए कि कब तक बनेगा और अगर नहीं रखती है तो क्यों नहीं?
ट्रैक्टर से विधानसभा पहुंचे तेजस्वी
बिहार विधानसभा के बजट सत्र में शामिल होने के लिए तेजस्वी यादव ट्रैक्टर से पहुंचे हैं। उन्होंने खुद ट्रैक्टर चलाया। इस दौरान बड़ी संख्या में पार्टी कार्यकर्ता मौजूद रहे। हालांकि, विधानसभा में अंदर उन्हें ट्रैक्टर के साथ जाने नहीं दिया गया। वहीं बजट वाले दिन तमाम विपक्षी पार्टियों ने बिहार विधानसभा के मुख्य प्रवेश द्वार पर जोरदार तरीके से हंगामा किया। विपक्षी नेताओं का कहना था कि सरकार रोजगार और धान अधिप्राप्ति को लेकर अपने किए गए वादे से पीछे हट रही है।
18 फरवरी से शुरू हुआ बजट सत्र, 24 मार्च तक चलेगा
18 फरवरी से बिहार विधानमंडल का सत्र शुरू हुआ। 24 मार्च तक ये सेशन चलेगा। इस दौरान आज बजट पेश किया जाएगा और सत्र के दौरान पास भी कराया जाएगा। बजट सत्र के पहले दिन सूबे के उपमुख्यमंत्री और वित्त मंत्री तारकिशोर प्रसाद ने अपने कार्यकाल का पहला आर्थिक सर्वेक्षण पेश किया।
आर्थिक सर्वेक्षण पेश, जानिए क्या रही मुख्य बातें
आर्थिक सर्वेक्षण में वित्त मंत्री तारकिशोर प्रसाद ने कहा कि ये ऐसे समय में आया है जब कोविड-19 ने राज्य की अर्थव्यवस्था को गंभीर रूप से प्रभावित कर दिया है। उन्होंने रिपोर्ट में बताया कि साल 2019-20 में बिहार का सकल राज्य घरेलू उत्पाद ( Gross State Domestic Product ) 6 लाख 11 हजार 804 करोड़ रुपये हो गया। प्रति व्यक्ति आय जो वर्ष 2011-12 में 34 हजार 413 रुपये था बढ़कर 50 हजार 735 रुपये हो गया। राज्य का सकल राजकोषीय घाटा ( Gross fiscal deficit ) 2 फीसदी दर्ज किया गया और GSDP में कृषि क्षेत्र की हिस्सेदारी 18.7 फीसदी रही।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *