वित्त मंत्री अरुण जेटली ने राहुल गांधी को बताया “Clown Prince”

नई दिल्ली। वित्त मंत्री अरुण जेटली ने राफेल डील और नॉन परफॉर्मिंग असेट्स (NPA) को लेकर राहुल गांधी पर पलटवार किया है। जेटली ने कांग्रेस अध्यक्ष को “विदूषक राजकुमार (Clown Prince)” से संबोधित करते हुए कहा है कि वह राफेल और एनपीए पर लगातार झूठ बोल रहे हैं। जेटली ने कहा है कि राहुल उस रणनीति पर काम कर रहे हैं जहां एक झूठ बनाया जाता है और उसे बार-बार बोला जाता है।
जेटली ने कहा कि राफेल को लेकर उनके द्वारा उठाए गए सवालों का राहुल की तरफ से कोई जवाब नहीं आया है। जेटली ने फेसबुक पर एक विस्तृत नोट लिख राफेल और एनपीए पर कांग्रेस अध्यक्ष के आरोपों का जवाब दिया है। जेटली ने लिखा है कि राहुल गांधी दो झूठ बोल रहे हैं। एक तो राफेल डील को लेकर और दूसरा मोदी द्वारा 15 उद्योगपतियों के ढाई लाख करोड़ के लोन माफी को लकर। जेटली ने कहा कि इन दोनों आरोपों में राहुल गांधी का हर शब्द झूठा है।
जेटली बोले, यूपीए काल में एनपीए था 8.96 लाख करोड़
राहुल गांधी के नेतृत्व में कांग्रेस एनपीए की बढ़ती समस्याओं को लेकर लगातार मोदी सरकार को घेरने की कोशिश कर रही है। वित्त मंत्री ने अपने नोट में लिखा है कि राहुल उद्योगपतियों के जिस लोन माफी की बात कर रहे हैं वह 2014 से पहले हुआ है। जेटली ने कहा कि उनका दावा है कि यूपीए के जाने के वक्त एनपीए 2.5 लाख करोड़ रुपये था।
वित्त मंत्री ने कहा कि सत्य यह है कि एनपीए कार्पेट के अंदर छिपा हुआ था। जेटली ने लिखा, ‘2015 में रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया न एक असेट क्वॉलिटी रिव्यू किया था।’ जेटली ने कहा कि पारदर्शी तरीके से जब बैंकों ने स्वीकार किया तो पता चला कि एनपीए 8.96 लाख करोड़ रुपये था। जेटली ने अपने पोस्ट में आरोप लगाया है कि एनपीए की रिकवरी या कमी के लिए यूपीए सरकार में कोई प्रभावशाली कदम नहीं उठाया गया।
जेटली ने राहुल पर निशाना साधते हुए कहा कि आपने राफेल और एनपीए, दोनों पर झूठ बोला है। वित्त मंत्री ने कहा कि पब्लिक डिस्कोर्स एक गंभीर ऐक्टिविटी है और यह लाफ्टर चैलेंज नहीं है। जेटली ने राहुल द्वारा पीएम मोदी को गले लगाने पर भी तंज कसते हुए लिखा कि पब्लिक डिस्कोर्स को आप गले लगने, आंख मारने या इस तरह के लगातार झूठ बोलने तक सीमित नहीं कर सकते हैं।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »