फिल्म ‘जिला गोरखपुर’: योगी के हाथ में पिस्‍टल, निर्देशक के खिलाफ केस दर्ज

लखनऊ। फिल्म निर्माता और निर्देशक विनोद तिवारी द्वारा गोरखपुर की पृष्ठभूमि पर प्रस्तावित फिल्म ‘जिला गोरखपुर’ पर जारी विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। फिल्म को रिलीज ना होने देने की धमकी देने के बाद अब पूर्व बीजेपी प्रवक्ता आईपी सिंह ने निर्देशक विनोद तिवारी के खिलाफ लखनऊ के विभूतिखंड थाने में केस दर्ज कराया है।
फिल्म में सीएम योगी आदित्यनाथ की गलत तस्वीर दिखाने और भगवा आतंकवाद के विवादित विषय को शामिल करने का आरोप लगाया गया है। रविवार को लखनऊ में शिकायत दर्ज कराने से पहले आईपी सिंह ने पहले भी ट्विटर पर निर्देशक को फिल्म रिलीज ना होने देने का चैलेंज दिया था। आईपी सिंह ने ट्विटर पर एक संदेश पोस्ट करते हुए कहा कि फिल्म निर्माता लोगों का बांटने का काम कर रहे हैं।
फिल्म की फंडिंग की जांच कराने की मांग
उन्होंने फिल्म के लिए फंडिंग की जांच की भी मांग की है। उनका आरोप है कि फिल्म में यूपी के सीएम की गलत तस्वीर पेश की गई है। वहीं शिकायत के बाद विभूति खंड थाने के प्रभारी मथुरा राय ने कहा कि पूरे प्रकरण की जांच और विधिक राय के बाद ही आगे की कार्यवाही होगी।
पुलिस के मुताबिक, विभूति खंड थाने में 153(ए), 295(ए), 500, 501, 503, 507 और 66(ए) के तहत केस दर्ज किया गया है।
पोस्टर में योगी की गलत तस्वीर पेश करने का आरोप
बता दें कि फिल्म ‘जिला गोरखपुर’ का पोस्टर जारी होने के बाद से ही इस पर विवाद की स्थितियां बन गई थीं। इस फिल्म के पोस्टर में निर्माता विनोद तिवारी ने भगवा वस्त्र में एक शख्स को उगते सूरज के सामने खड़ा दिखाया था। इस पोस्टर में दिखाए गए शख्स के हाथ में एक पिस्टल और बगल में एक गाय की तस्वीर को भी प्रदर्शित किया गया है।
गोरखपुर के सांसद रहे हैं योगी आदित्यनाथ
आईपी सिंह ने इस फिल्म के माध्यम से निर्देशक विनोद तिवारी पर नाथ संप्रदाय की भावना को ठेस पहुंचाने और सीएम योगी आदित्यनाथ की गलत तस्वीर को पेश करने का आरोप लगाया है। बता दें कि सीएम योगी आदित्यनाथ वर्तमान में गोरक्षपीठ के महंत हैं और वह पूर्व में कई बार गोरखपुर के सांसद भी रह चुके हैं।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »