कन्नौज में ट्रक और बस की भीषण टक्‍कर, डीएनए टेस्ट से पता लगेगा मौत का आंकड़ा

कन्नौज। उत्तर प्रदेश के कन्नौज में शुक्रवार रात हुए भीषण सड़क हादसे मौत का सटीक आंकड़ा अब तक पता नहीं चल पाया है।
कानपुर रेंज के आईजी का कहना है कि हादसा इतना भयानक था कि शव बुरी तरह जल चुके हैं। उन्होंने कहा कि सिर्फ डीएनए टेस्ट से ही मौत का स्पष्ट आंकड़ा पता चल पाएगा। यहां तक कि बस के अंदर से अभी शव तक नहीं निकाले गए हैं। आईजी ने बताया कि करीब 20 लोग लापता हैं, संभव है कि उनकी मौत हो गई हो। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी घटना पर शोक व्यक्त किया।
पीएम मोदी ने ट्वीट कर जताया शोक
पीएम नरेंद्र मोदी ने अपने ट्विटर हैंडल से लिखा, ‘उत्तर प्रदेश के कन्नौज में हुए भीषण सड़क हादसे के बारे में जानकर अत्यंत दुख पहुंचा है। इस दुर्घटना में कई लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी है। मैं मृतकों के परिजनों के प्रति अपनी संवेदनाएं प्रकट करता हूं, साथ ही घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करता हूं।’
राहुल गांधी-मायावती भी हादसे से दुखी
कांग्रेस के राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा, ‘कन्नौज में हुए सड़क हादसे में बस और ट्रक के टक्कर में लगी भीषण आग से 20 लोगों की मौत और अनेक लोगों के घायल होने की खबर से आहत हूं। मृतकों के परिवार के प्रति मैं अपनी गहरी संवेदना व्यक्त करता हूं और घायलों के जल्द स्वस्थ होने की कामना करता हूं।’
बीएसपी की चीफ मायावती ने ट्वीट किया, ‘यूपी के कन्नौज में बस और ट्रक की भीषण भिड़ंत में 20 से अधिक यात्रियों की मौत अति-दुखद। सरकार पीड़ित परिवार वालों की तुरंत समुचित सहायता करे व घायलों को बेहतर इलाज की व्यव्स्था करे।’
यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ भी कन्नौद हादसे से व्यथित दिखे। उन्होंने ट्वीट किया, ‘कन्नौज में हुए भीषण हादसे में हुई लोगों की मृत्यु की खबर से मन आहत है। प्रभु श्रीराम से दिवंगत जनों की आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना करता हूं और दुर्घटना में घायल व्यक्तियों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करता हूं। मेरी संवेदनाएं शोक संतप्त परिजनों के साथ हैं।’
हादसे में 25 लोगों को बचाया गया, मृतकों को मुआवजा
ट्रक और प्राइवेट स्लीपर बस के बीच टक्कर के बाद दोनों वाहन आग का गोला बन गए थे। हादसे में 25 लोगों को बचा लिया गया है जिनका इलाज चल रहा है। इस बीच सीएम योगी आदित्यनाथ ने मृतकों के परिजनों को 2-2 लाख रुपये और घायलों को 50 हजार रुपये मुआवजे का ऐलान किया है। सीएम ने घटना पर जिला प्रशासन से रिपोर्ट भी मांगी है।
18 से 20 लोग लापता: आईजी
कन्नौज में हुए सड़क हादसे पर कानपुर रेंज के आईजी मोहित अग्रवाल ने बताया, ‘बस में करीब 45 यात्री सवार थे। 25 लोगों को बचाया गया जिनमें से 12 को मेडिकल कॉलेज तिर्वा में भर्ती कराया गया है जबकि 11 घायलों का इलाज जिला अस्पताल में चल रहा है। 2 लोग बिल्कुल सुरक्षित हैं और उन्हें घर भेज दिया गया है।’ आईजी ने बताया, ’18 से 20 लोग लापता है, हो सकता है कि उनकी मौत हो गई हो लेकिन अब कुछ कहा नहीं जा सकता है।’
मोहित अग्रवाल ने बताया, ‘बस के अंदर शव बुरी तरह जल चुके हैं, हड्डियां तक बिखर चुकी हैं। इसलिए सिर्फ डीएनए टेस्ट से ही मौत के सही आंकड़ों का मालूम हो सकेगा। प्रथम दृष्टया मालूम हो रहा है कि बस में 8 से 10 शव हैं लेकिन नुकसान इतना अधिक है कि सिर्फ डीएनए रिपोर्ट की सही आंकड़ा बता पाएगी।’
बीजेपी विधायक ने की घायलों से मुलाकात
बता दें कि कन्नौज के छिबरामऊ में जीटी रोड हाइवे पर ग्राम घिलोई के पास ट्रक और प्राइवेट स्लीपर बस के बीच आमने-सामने से जबरदस्त भिड़ंत हो गई। टक्कर लगते ही दोनों गाड़ियों में आग लग गई। कुछ ही देर में दोनों गाड़ियां धू-धू कर जलने लगी और आग का गोला बन गई। हादसे में स्लीपर कोच बस में सवार कई यात्रियों की आग में जलकर मौत होने की आशंका है। कन्नौज की बीजेपी विधायक अर्चना पांडे यात्रियों को देखने अस्पताल में पहुंची और मुख्य चिकित्सा अधिकारियों को उचित व्यवस्था उपलब्ध कराने का निर्देश दिए।
जयपुर जा रही थी बस
स्लीपर कोच बस फर्रुखाबाद से छिबरामऊ होते हुए जयपुर जा रही थी। वहीं, ट्रक कन्नौज के बेवर से कानपुर की तरफ जा रहा था। हादसा रात करीब 8 बजे हुआ। हादसे का अनुमान इसी से लगाया जा सकता है कि स्लीपर कोच बस में फंसे यात्रियों को निकलने तक का मौका नहीं मिल सका। मौके पर मौजूद लोगों के अनुसार, बस में आग लगते ही गेट और खिड़कियों के रास्ते बस से बाहर कूदे। कुछ ही पलों में विकराल हुई आग के चलते सो रहे या ऊंघ रहे यात्री बाहर ही नहीं आ सके।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *