बवालेजान बने Fashion trends, अब दाढ़ी के बालों में भी बैक्‍टीरिया

आजकल Fashion trends में हैं पुरुषों की दाढ़ी, मगर कम ही लोग जानते होंगे कि ये दाढ़ी ही उनके लिए बवालेजान हो गई है। जी हां, नए Fashion trends में शामिल भारत में युवकों में दाढ़ी का क्रेज उनकी सेहत पर भारी पड़ रहा है। हाल ही में क्वीन मैरी यूमिवर्सिटी ऑफ लंदन के शोधकर्ताओं ने ऐसी रिसर्च रिपोर्ट तैयार की है जिसमें बताया गया है कि पुरुषों की दाढ़ी में कुत्ते के बालों से ज्यादा खतरनाक और ताकतवर बैक्टीरिया होते हैं।

यह बैक्टीरिया लोगों को काफी तेजी से संक्रमित करते हैं। क्वीन मैरी यूनिवर्सिटी ऑफ लंदन के शोधकर्ताओं ने इस सिलसिले में 18 से 76 साल के मर्दों को इस  रिसर्च  में शामिल किया। रिसर्च में तकरीबन 18 पुरुषों की दाढ़ी के बालों का सैंपल लिया गया और 30 कुत्तों के बालों का।

रिपोर्ट में इस बात का खुलासा हुआ कि पुरुषों की दाढ़ी में बैक्टीरिया का स्तर कुत्तों के बालों में बैक्टीरिया के मुकाबले ज्यादा है। साथ ही यह बैक्टीरिया काफी पॉवरफुल और तेजी से फैलने वाला है। शोधकर्ताओं के अनुसार, कई बार साफ-सफाई के बावजूद भी दाढ़ी में कई खतरनाक बैक्टीरिया फंसे रह जाते हैं। यह बैक्टीरिया सीधे स्किन से टच होने के कारण इन्फेक्शन का कारण बनते हैं।

बर्मिंघम ट्राइकोलॉजी सेंटर के स्पेशलिस्ट कैरल वाकर ने इस पर अपनी राय व्यक्त करते हुए कहा कि चेहरे पर बाल चाहे दाढ़ी, मूंछ या नाक के भीतर हों, इनमें मौजूद कीटाणु सीधे त्वचा के कांटेक्ट में होते हैं। इस सिलसिले में रिसर्चर रॉन कटलर ने जानकारी देते हुए कहा कि जो पुरुष दाढ़ी रखना पसंद करते हैं कई बैक्टीरिया दाढ़ी के बालों में छिपे रहते हैं। जो पुरुष क्लीनशेव होते हैं उनकी अपेक्षा दाढ़ी वाले पुरुष अधिक बीमार पड़ते हैं।

रिसर्च में इस बात का भी खुलासा हुआ कि कि पुरुषों की बढ़ी दाढ़ी में स्टेफलोकोकस नामक खतरनाक बैक्टीरिया बहुत तेजी से पनपता है। इससे त्वचा सम्बन्धी कई रोग और संक्रमण होते हैं।

-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »