संस्कृति विवि के फैशन डिजाइनिंग स्कूल की छात्राओं ने लगाई प्रदर्शनी

मथुरा। संस्कृति विश्वविद्यालय के फैशन डिजाइनिंग स्कूल की छात्राओं द्वारा दो दिवसीय श्रीजन द आर्ट आफ क्राफ्टिसंस का आयोजन किया गया।
प्रदर्शनी में छात्राओं ने घर को सजाने के लिए ऐसे उत्पाद तैयार किए गए जो सुंदर दिखने के साथ-साथ पर्यावरण के अनुकूल भी हों इसीलिए इन वस्तुओं में कार्बनिक कपड़े और जूट का इस्तेमाल प्रचुर मात्रा में किया गया।

प्रदर्शनी का विधिवत् उद्घाटन विवि के कुलाधिपति सचिन गुप्ता ने किया। प्रदर्शनी के अवलोकन के पश्चात कुलाधिपति ने विद्यार्थियों द्वारा बनाए गए उत्पादों की सराहना करते हुए कहा कि सबसे अच्छी बात यह कि इन वस्तुओं के निर्माण में उसी सामान का प्रयोग किया गया है जो हमारे पर्यावरण के अनुकूल है। निसंदेह इनको सुंदर बनाने में बच्चों ने बेहद मेहनत की है। हम यही चाहते हैं कि यहां से अध्ययन कर निकलने वाले बच्चे अपनी रुच‍ि के अनुरूप अपना स्वयं का उद्योग शुरू करें। अपने पैरों पर खड़े हों और दूसरों को रोजगार दे सकें।

संस्कृति विवि के फैशन डिजाइनिंग स्कूल की असिस्टेंट प्रोफेसर नेहा सारस्वत ने बताया कि शैक्षणिक अनुभव और उद्यमशीलता के उत्साह को बढ़ाने के उद्देश्य से हमने इस प्रदर्शनी का आयोजन किया है। ऐसी प्रदर्शिनियों से फैशन के साथ-साथ विद्यार्थियों में रचनात्मकता और कुछ नया करने की इच्छा जागृत होती है और यही विवि का उद्देश्य भी है।

प्रदर्शनी में छात्र-छात्राओं द्वारा तैयार किए गए कृत्रिम फूल, गुलदस्ते, टेबल टाप, कुशन कवर, डाइनिंग टेबल कवर, कार्पेट, वुडन फोटो फ्रेम, कोस्टर सेट, मैग्जीन होल्डर, कैंडल, वाल हैंगिंग, नेटेड स्टोल आदि बेहद पसंद किए गए।

इस मौके पर फैशन डिजानिंग स्कूल के शिक्षक एवं शिक्षिकाएं अर्पित मिश्रा, आयुषी पांडे, हर्षलता शर्मा, कौशल राज, श्रीमती पूजा मौर्या आदि मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *