लिरिक्स के फनकार Gulzar का 83वां जन्मदिन आज

हिंदी फिल्म इंडस्ट्री के जाने-माने और टैलंटेड राइटर Gulzar का आज 83वां जन्मदिन है। Gulzar आज किसी परिचय के मोहताज नहीं हैं। दमदार डायलॉग्स और दिल को छू लेने वाले लिरिक्स के फनकार गुलजार आज दुनियाभर में प्रसिद्ध हैं, लेकिन इस पड़ाव तक पहुंचने के लिए गुलजार को काफी पापड़ बेलने पड़े। काफी तकलीफें सहन करनी पड़ीं।
परिवार बंट गया, पढ़ाई छूट गई
क्या आप जानते हैं कि गुलजार राइटर बनने से पहले कार मैकेनिक थे? आज हम आपको गुलजार की जिंदगी से जुड़े कुछ दिलचस्प किस्से बताएंगे। गुलजार का जन्म ब्रिटिश इंडिया के दीना में कालरा सिख फैमिली में हुआ था, लेकिन 1947 में भारत-पाकिस्तान के विभाजन के बाद गुलजार का परिवार भी बंट गया और उन्हें अपनी पढ़ाई छोड़ मुंबई आना पड़ा।
गुजर-बसर के लिए किए छोटे-मोटे काम
अब सामने समस्या थी जिंदगी गुजारने की, जिसके लिए रोजी-रोटी ज़रूरी थी। चूंकि गुलजार की पढ़ाई छूट चुकी थी, उन्हें किसी कंपनी में काम मिलना भी आसान नहीं था लिहाजा उन्होंने मुंबई में गुजर-बसर के लिए छोटे-मोटे काम करने शुरू कर दिए।
कार मैकेनिक और पेंटर का काम किया
आपको यकीन नहीं होगा कि गुलजार ने मुंबई के एक गैराज में कार मैकेनिक तक का काम किया। वह बेलासिस रोड स्थित एक गैराज में टूटी-फूटी गाड़ियों को अलग-अलग रंगों से टच-अप किया करते थे।
राइटिंग की तरफ हुआ रुझान, पिता से खाई खूब डांट
धीरे-धीरे गुलजार की दिलचस्पी राइटिंग में होने लगी और उनका रुझान उसी तरफ हो गया। हालांकि गुलजार के पिता को यह पसंद न था और वह उन्हें खूब डांटते थे। एक बार जब गुलजार की मुलाकात बिमल रॉय और शैलेंद्र से हुई तो उन्होंने गुलजार को फिल्मों में आने के लिए कहा और बस यहीं से गुलजार की ज़िंदगी बदल गई।
राखी के प्यार में गिरफ्तार हुए गुलजार
गुलजार की सफलता चरम पर थी और इसी बीच उनकी लाइफ में एंट्री हुई ऐक्ट्रेस राखी की। दोनों ने 1973 में शादी कर ली और उसी साल दोनों के एक बेटी हुई, जिसका नाम उन्होंने मेघना रखा।
शादी के एक साल बाद राखी से अलग हुए गुलजार, नहीं लिया तलाक
न जाने किस्मत को क्या मंजूर था। शादी के एक साल बाद ही राखी और गुलजार अलग हो गए। तब से लेकर आज तक गुलजार और राखी अलग ही रह रहे हैं। खास बात यह है कि दोनों ने एक-दूसरे से तलाक भी नहीं लिया है।
गुलजार-राखी की बेटी मेघना
हालांकि आज भी गुलजार और राखी एक-दूसरे के प्रति सम्मान रखते हैं। उनकी बेटी मेघना एक जानी-मानी निर्देशक हैं। हाल ही में उनकी फिल्म ‘राज़ी’ आई थी। गुलजार को यह काफी पसंद आई और तारीफ करते हुए उन्होंने कहा था कि उन्हें अपनी बेटी पर गर्व है।
ऑस्कर, ग्रैमी जैसे कई सम्मानों ने नवाजे गए गुलजार
आज गुलजार का काम और लोकप्रियता किसी परिचय की मोहताज नहीं है। उन्हें कई नेशनल अवॉर्ड, 20 फिल्मफेयर अवॉर्ड्स के अलावा ऑस्कर से भी नवाजा जा चुका है। इतना ही नहीं, उनके खाते में एक ग्रैमी अवॉर्ड भी है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »