परिवार कल्याण मंत्रालय ने जन स्वास्थ्य कार्यक्रम में शामिल किए दो नए गर्भनिरोधक

जनसंख्या वृद्धि पर लगाम लगाने के उद्देश्य से स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने अपने जन स्वास्थ्य कार्यक्रम में दो नए गर्भनिरोधक शामिल किए हैं.
स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने अपने जन स्वास्थ्य कार्यक्रम में दो प्रकार के गर्भनिरोधक हैं पहला टैबेलेट के रूप में है जिसे छाया नाम दिया गया है जबकि दूसरा गर्भनिरोधक इंजेक्शन के रूप में है जिसे अंतरा कार्यक्रम के तहत शामिल किया गया है.
मंत्रालय की मंगलवार को जारी विज्ञप्ति के अनुसार ये दोनों ही गर्भनिरोधक पूरी तरह सुरक्षित हैं. इसमें छाया टैबेलेट एक सप्ताह तक और इंजेक्शन तीन सप्ताह तक प्रभावी रहता है.
जन स्वास्थ्य सेवाओं से जुड़े लोगों द्वारा इन गर्भनिरोधकों की आपूर्ति आम लोगों तक सुनिश्चित करने और आशा कर्मियों के जरिए इनके बेहतर वितरण के लिए मंत्रालय ने हाल ही में एक नया साफ्टवेयर भी जारी किया है.
परिवार नियोजन के प्रति लोगों को जागरुक बनाने के लिए स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से अधिक जन्म दर वाले देश के 146 जिलों में पहले से ही मिशन परिवार विकास के नाम से सक्रिय अभियान चलाया जा रहा है.
मंत्रालय ने 2020 तक आधुनिक गर्भनिरोधकों की मांग 74 फीसदी पूरा करने का लक्ष्य निर्धारित किया है.
-एजेंसी