पीएम मोदी की आलोचना के लिए बनाए कांग्रेस से जुड़े फेक अकाउंट्स फेसबुक ने डिलीट किए

मुंबई। फेसबुक ने कांग्रेस से जुड़े ऐसे फेक अकाउंट्स को डिलीट कर दिया है जिनके माध्‍यम से फेक न्यूज फैलाने के अलावा मुख्य विक्षी दल बीजेपी और पीएम नरेंद्र मोदी की आलोचना भी की जाती थी।
फेसबुक ने अपनी जांच में पाया कि कांग्रेस से जुड़े लोगों ने फेक अकाउंट्स बनाए और अलग-अलग ग्रुप्स से जुड़कर कन्टेंट को फैलाया तथा लोगों के बीच संपर्क बढ़ाने का काम किया।
जांच के बाद फेसबुक ने कांग्रेस पार्टी से जुड़े ऐसे 687 पेजों को अपने प्लेटफॉर्म से हटा दिया है।
गौरतलब है कि लोकसभा चुनावों के लिए पहले चरण के मतदान में अब कुछ दिन ही बचे हैं और इससे पहले फेसबुक की यह कार्यवाही कांग्रेस के लिए किसी झटके से कम नहीं है।
सोशल मीडिया कंपनी ने आज इस बारे में कहा कि ‘अप्रमाणिक व्यवहार’ के चलते देश की मुख्य विपक्षी पार्टी से जुड़े इन पेजों को हटाया गया है। फेसबुक ने संभवत: पहली बार इस तरह का ऐक्शन लिया है, जब किसी बड़ी राजनीतिक पार्टी से जुड़े पन्नों को हटाया गया है। फेसबुक ने साफ किया है कि इन पन्नों को उनमें प्रकाशित सामग्री की बजाय उनके ‘इनऑथेंटिक बिहेवियर’ यानी अप्रामाणिक जानकारी के चलते हटाया गया है।
भारत में दुनिया में सबसे ज्यादा 30 करोड़ फेसबुक यूजर हैं। फेसबुक ने कहा कि उसने अपनी जांच में पाया है कि लोगों ने फेक अकाउंट्स बनाए और अलग-अलग ग्रुप्स से जुड़कर कन्टेंट को फैलाया तथा लोगों के बीच संपर्क बढ़ाने का काम किया। फेसबुक ने कहा कि इन फेक पन्नों में लोकल न्यूज के अलावा मुख्य विक्षी दल बीजेपी और पीएम नरेंद्र मोदी की आलोचना भी की जाती थी।
फेसबुक की साइबर सिक्योरिटी पॉलिसी के हेड नाथनेल ग्लेचियर ने कहा, ‘लोगों ने अपनी पहचान को छिपाकर यह काम करने का प्रयास किया, लेकिन हमने अपनी जांच में पाया कि ऐसे पन्ने कांग्रेस की आईटी सेल के लोगों से जुड़े थे।’ उन्होंने कहा कि इन अकाउंट्स को कन्टेंट नहीं, बल्कि अप्रमाणिक व्यवहार के चलते हटाया जा रहा है।
बता दें कि भारत में 11 अप्रैल से 19 मई तक 7 चरणों में आम चुनाव के लिए मतदान होना है और 23 मई को नतीजों का ऐलान होना है। फेसबुक ने हटाए गए पन्नों के दो सैंपल भी पेश किए हैं, जिनमें पीएम नरेंद्र मोदी के प्रयासों की आलोचना की गई है और कांग्रेस एवं उसके अध्यक्ष राहुल गांधी को समर्थन करने की अपील की गई है।
पाकिस्तानी सेना से जुड़े 103 पन्नों को भी हटाया
सोशल मीडिया की दिग्गज कंपनी ने कहा कि उसने पाकिस्तानी सेना के जनसंपर्क विभाग से जुड़े 103 पन्नों को भी हटाने का फैसला लिया है। इनका संचालन पाकिस्तान से ही होता था। दुनिया भर की कई अथॉरिटीज ने फेसबुक पर राजनीतिक लाभ के लिए फर्जी जानकारियां फैलाने वाले अकाउंट्स पर ऐक्शन लेने का दबाव बनाया था।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *