राफेल पर फेल, अब माफी की बजाय राहुल ने मांगी जेपीसी जांच

नई दिल्‍ली। राफेल डील की जांच की मांग वाली याचिकाओं को सुप्रीम कोर्ट की ओर से खारिज करने के बाद भी इस पर आरोपों का दौर खत्म नहीं हुआ।
एक तरफ बीजेपी ने सवाल उठाने वालों से माफी मांग की है तो कांग्रेस ने अब जेपीसी जांच की जरूरत बताई है। राहुल गांधी ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले के ही एक पैराग्राफ का जिक्र करते हुए यह बात कही है। राहुल गांधी ने ट्वीट कर राफेल डील की सुनवाई करने वाली बेंच में शामिल जस्टिस जोसेफ की टिप्पणी का हवाला देते हुए कहा कि शीर्ष अदालत ने जांच के दरवाजे खोले हैं। उनके अलावा कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने बीजेपी पर हमला बोलते हुए कहा कि वह सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर जश्न मना रही है, लेकिन यह सेलिब्रेशन नहीं बल्कि इन्वेस्टिगेशन का समय है।
राहुल गांधी ने ट्वीट किया, ‘सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस जोसेफ राफेल घोटाले की जांच के लिए बड़ा द्वार खोला है। इस पर जांच शुरू होनी चाहिए। इस स्कैम की जांच के लिए संयुक्त संसदीय समिति भी गठित करने की जरूरत है।’
कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने इस मसले पर मीडिया से बात करते हुए कहा कि सुप्रीम कोर्ट का निर्णय यह साबित करता है कि राफेल केस की आपराधिक जांच का रास्ता सुप्रीम कोर्ट ने खोल दिया है।
उन्होंने कहा कि बीजेपी के लिए यह जश्न का ढोल बजाने का नहीं, बल्कि आपराधिक जांच पर आगे बढ़ने का है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि हमारे हाथ संवैधानिक मर्यादा में बंधे हो सकते हैं लेकिन अन्य किसी एजेंसी के साथ ऐसा नहीं है। सुरजेवाला ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के निर्णय से तीन बातें साफ हैं, पहली यह कि अदालत ने कहा कि आर्टिकल 32 के तहत उनके पास बहुत सीमित अधिकार हैं। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि हमारे अलावा कोई भी स्वतंत्र एजेंसी इस मामले की तफ्तीश कर सकती है।
इसके साथ ही सुरजेवाला ने एक बार फिर से राफेल डील पर कुछ सवालों को दोहराया-
– ऑफसेट कॉन्ट्रैक्ट 12 दिन पहले बनी कंपनी को क्यों दे दिया गया।
– इसके अलावा राफेल के दामों में इजाफा क्यों किया गया।
– राष्ट्रीय सुरक्षा से खिलवाड़ और समझौता क्यों किया गया।
– आखिर इमर्जेंसी खरीद है तो फिर इनकी डिलिवरी 8 साल में क्यों हो रही है।
– 126 की जगह महज 36 राफेल जेट्स की खरीद ही क्यों की जा रही है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »