बकरीद पर घाटी में जबर्दस्‍त बवाल: पुलिसकर्मी की हत्‍या, भाजपा कार्यकर्ता को गोली मारी

श्रीनगर। कश्मीर घाटी में बुधवार को बकरीद के मौके पर अलगाववादियों ने जमकर बवाल किया। श्रीनगर और अनंतनाग में सड़कों पर पत्थरबाजी के साथ पाकिस्तान और आईएसआईएस के झंडे लहराए गए। वहीं, कुलगाम में आतंकियों ने ईद की नमाज के बाद घर लौट रहे एक पुलिसकर्मी की गोली मारकर हत्या कर दी। इससे पहले पुलवामा में देर रात बीजेपी कार्यकर्ता को अगवा कर गोली मार दी गई।
सेना पर पत्थरबाजी, IS के झंडे लहराए
ईद के पाक मौके पर श्रीनगर, कुलगाम, अनंतनाग समेत घाटी के कई शहरों में अलगाववादियों ने जमकर उत्पात मचाया। ईद की नमाज के बाद उपद्रवियों ने सेना के वाहनों को पत्थरों से निशाना बनाया। इस दौरान वे पाकिस्तान और आईएसआईएस का झंडा लहराते हुए ‘पाक जिंदाबाद’ के नारे भी लगा रहे थे। सेना को उपद्रवियों पर काबू पाने के लिए आंसू गैस का इस्तेमाल करना पड़ा।
ईद की नमाज से लौट रहे थे फयाज
ईद पर एक पुलिसकर्मी की भी हत्या कर दी गई। एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि पुलिसकर्मी फयाज अहमद शाह ईद की नमाज के बाद घर लौट रहे थे। आतंकियों ने घर के पास उन्हें गोली मार दी। अधिकारी के मुताबिक शाह तलवाड़ा में भर्ती प्रशिक्षण ले रहे थे और परिवार के साथ ईद मनाने घर आए हुए थे। तिरंगे में लिपटे फयाज के शव को कई सीनियर पुलिस अधिकारियों ने श्रद्धांजलि दी।
BJP वर्कर को गोलियों से भूना
पुलवामा से अगवा किए गए बीजेपी कार्यकर्ता का शव बुधवार सुबह बरामद हुआ। पुलिस ने बताया कि शबीर अहमद भट्ट के शरीर पर गोलियों के निशान हैं और उनका शव कुपवाड़ा के रख-ए-लितर में खेत से बरामद हुआ। उन्होंने बताया कि मंगलवार रात संदिग्ध आतंकवादियों ने भट्ट का अपहरण कर लिया था।
सीआरपीएफ कैंप पर भी हमला
अलगाववादियों की पत्थरबाजी के बीच सेना पर आतंकियों ने भी हमला किया। हासनपोरा में सीआरपीएफ की 30वीं बटालियन की जी कंपनी पर बाइक पर सवार आतंकियों ने हमला किया। कैंप के गेट पर मौजूद जवानों ने जवाबी फायरिंग की। आतंकी बचकर भागने में कामयाब रहे।
BJP कार्यकर्ता की हत्या पर शाह ने जताया शोक
बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने पुलवामा में बीजेपी कार्यकर्ता की हत्या पर ट्वीट कर शोक जताया। शाह ने ट्वीट किया, ‘बीजेपी कार्यकर्ता शब्बीर अहमद भट की मौत की खबर से बहुत अधिक दुखी हूं। इस कायराना हरकत की घोर निंदा करता हूं। अतिवादी कश्मीर के युवाओं को बेहतर भविष्य के लिए आगे बढ़ने से नहीं रोक सकते हैं। हिंसा का यह चक्र लंबे समय तक नहीं चल सकता।’
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »