सरकारी बंगले की बदहाली सामने आने पर अखिलेश ने कहा, नुकसान की भरपाई करने को तैयार

वृंदावन (मथुरा)। लखनऊ स्‍थित अपने सरकारी बंगले की बदहाली सामने आने के बाद यूपी के पूर्व सीएम और समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने आज वृंदावन में कहा कि सरकार उन्हें लिस्ट सौंपे, जो भी नुकसान हुआ है वह उसकी भरपाई करने के लिए तैयार हैं। अखिलेश आज यहां बांकेबिहारी के दर्शन करने आए थे।
दर्शन करने के बाद पत्रकारों द्वारा पूछे गए सवालों के जवाब में अखिलेश यादव ने कहा कि बीजेपी उन्हें बदनाम कर रही है। सरकार उन्हें लिस्ट सौंपे, जो भी नुकसान हुआ है वह उसकी भरपाई करने के लिए तैयार हैं।
उन्‍होंने कहा कि बंगले में बड़ना, कदम और हिम चम्पा आदि के पेड़ भी उन्होंने लगाए थे, जो छूट गए हैं। सरकार उन्हें भी लौटाए। उन्‍होंने कहा कि वह सरकार की नीयत से अच्छी तरह वाकिफ हैं। गाय से राजनीति शुरू करने वाली मौजूदा सरकार ने गाय को बुरी हालत में छोड़ दिया। गाय पॉलीथिन खा रही है।
उन्होंने पत्रकारों के सवाल के जवाब में कहा कि राज्य संपत्ति विभाग के अधिकारियों को उनका कमरा, उनके बच्चों का कमरा और मंदिर दिखाना चाहिए। जरूरत पड़े तो शौचालय भी दिखाएं।
आरएसएस के कार्यक्रम में पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी के जाने के सवाल पर बोले, कुछ नहीं कहना है। गठबंधन को मिली सफलता से अखिलेश गदगद दिखाई दिए और संकेत दिए कि 2019 में साथ मिलकर चुनाव लड़ेंगे।
इस दौरान वह प्रधानमंत्री और योगी पर कटाक्ष करने से भी नहीं चुके। कहा कि मैं आज बांकेबिहारी परिवार के साथ दर्शन करने के लिए आया हूं, उन लोगों को भी चाहिए कि परिवार के साथ यहां आएं।
गिनाईंं समाजवादी सरकार की उपलब्धियां
अखिलेश यादव ने कहा कि समाजवादी पार्टी की सरकार ने मथुरा, बरसाना, गोवर्धन और वृंदावन के वर्ल्ड क्लास इंस्फ्राट्रक्चर देने का काम किया था ताकि यहां आने वाले लाखों श्रद्धालुओं को परेशानी न हो। एक्सप्रेसवे से वृंदावन के लिए रास्ता खोला गया था। कहा कि समाजवादी पार्टी सरकार में जो कार्य अधूरे रह गए उसे ये सरकार पूरा करे। यदि पूरा नहीं करेगी तो बांकेबिहारी जी सब देख रहे हैं।
यमुना की सफाई सवाल पर कहा कि जब यमुना साफ होगी तभी गंगा साफ होगी इसलिए जरूरी है कि यमुना, हिंडन और काली नदी जैसी नदियों को साफ किया जाए।
-Legend News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »