कापसहेड़ा में आज फिर मिले 17 कोरोना पॉजिटिव

नई द‍िल्ली। दिल्‍ली के कापसहेड़ा में शनिवार को मिले 41 कोरोना मरीजों के बाद आज रविवार को भी 17 नए मरीज मिलने से हड़कंप मच गया है। डीएम/जिला उपायुक्त राहुल सिंह ने ट्वीट कर बताया कि अभी तक यहां से कुल 58 लोग कोरोना पॉजिटिव मिले हैं।

शनिवार को एक ही घर से मिले थे 41 मरीज

बता दें कि शनिवार को कापसहेड़ा इलाके के एक ही मकान में 41 लोगों के कोरोना संक्रमित होने से पूरे इलाके में हड़कंप मच गया था। दक्षिणी पश्चिमी जिला उपायुक्त कार्यालय से महज तीन सौ मीटर दूर इस मकान में 18 अप्रैल को पहला मामला सामना आया था, जिसके बाद इलाके को कंटेनमेंट जोन घोषित कर दिया गया था।

195 लोगों की हुई थी जांच

स्वास्थ्य विभाग ने तत्परता बरतते हुए इलाके से 195 लोगों के सैंपल लिए थे, जिसमें 67 लोगों की रिपोर्ट शनिवार को आई। इसमें से 41 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए। इन्हें इलाज के लिए विभिन्न कोविड अस्पताल में भेज दिया गया। इन सभी का सैंपल 20 अप्रैल को लिया गया था। जिला प्रशासन का कहना है कि 13 दिन बाद रिपोर्ट आई है। ऐसे में इलाके के लोगों का दोबारा सैंपल लिया जाएगा, जिससे कि वर्तमान हालात के बारे में जानकारी मिल सके।

महिला को कोविड अस्‍पताल में भेजा गया

इधर 17 नए मामले सामने आने के बाद दक्षिणी-पश्चिमी जिले में संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 127 पहुंच गई है। ज्ञात हो इसी मकान में रहने वाली एक गर्भवती महिला ग्रेटर कैलाश में एक निजी अस्पताल में डिलीवरी कराने के लिए गई थी। डिलीवरी से पूर्व चिकित्सकों ने एहतियात के तौर पर महिला की कोरोना संक्रमण की जांच की और 18 अप्रैल को रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद प्रशासन ने न सिर्फ महिला को कोविड अस्पताल में रेफर किया बल्कि महिला के संपर्क में आए सभी चिकित्सकों को होम क्वारंटाइन कर दिया था।

सील हुई पूरी बिल्‍डिंग

जिला उपायुक्त राहुल सिंह ने कहा कि महिला के संक्रमित होने के बाद ही पूरी बिल्डिंग को सील कर दिया गया था। यहां पर एक शौचालय का इस्तेमाल कई लोग करते हैं। ऐसे में पहले ही आशंका जताई गई थी कि मामला बढ़ सकता है। लोगों के सैंपल लिए गए। किसी को घर से बाहर निकलने की अनुमति नहीं है। इसी इमारत के 41 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है, लेकिन सुकून की बात है कि कोरोना संक्रमण इस मकान के बाहर नहीं फैला है।

– एजेंसी

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *