मुख्‍यमंत्री योगी का चॉपर के लिए Helipad निर्माण में लापरवाही बरतने वाले तीन इंजीनियर सस्‍पेंड

कासगंज। मुख्‍यमंत्री योगी का चॉपर खेत में उतरने के मामले में तीन इंजीनियरों को अस्‍थाई Helipad निर्माण में लापरवाही बरतने पर तत्‍काल प्रभाव से सस्‍पेंड कर दिया गया है।
गौरतलब है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सुरक्षा में सोमवार को भारी लापरवाही बरती गई। कासगंज में तूफान और डकैती पीड़ितों से मिलने पहुंचे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के हेलीकॉप्टर के लिए बनाए गए Helipad के निर्माण में भारी खामियां बरती गईं। हेलीपैड में गड़बड़ी भांप पायलट ने हेलीकॉप्टर को खेत में उतार दिया। यह देख सुरक्षा एजेंसियों में हड़कंप मच गया।

मानक के विपरीत किया Helipad निर्माण

मानक के विपरीत हेलीपैड निर्माण और मुख्यमंत्री की सुरक्षा में लापरवाही बरतने के मामले में शासन से जानकारी ली गई और दोषी पाए गए एक्‍जीक्‍यूटिव इंजीनियर, असिस्‍टेंट इंजीनियर व जूनियर इंजीनियर को सस्‍पेंड कर दिया गया है।

गौरतलब है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के कासगंज दौरे की सूचना जिला प्रशासन को रविवार रात मिलने के बाद उनकी सुरक्षा व्यवस्था और इंतजाम अफसरों ने शुरू किए। रात में ही प्रशासन ने सीएम के हेलीकॉप्टर के लिए सहावर के फरौली कस्तूरबा विद्यालय में हेलीपैड बनाने को स्थल चयन किया। हैलीपेड स्थल आनन-फानन में तय किया गया। मगर सुबह 10.49 बजे जब सीएम का हेलीकॉप्टर वहां पहुंचा तो पायलेट ने हैलीपेड पर लैंड नहीं किया। हेलीकॉप्टर ने तीन चक्कर भी लगाए। इसके बाद पायलट ने हेलीकॉप्टर 200 मीटर दूर खेत में उतार दिया। यह देख सुरक्षा एजेंसियों में भगदड़ मच गई। एडीजी आगरा अजय आनंद और डीएम आरपी सिंह समेत अफसरों ने हेलीकॉप्टर उतरने वाले खेत की ओर दौड़ लगा दी। सुरक्षाकर्मियों ने सीएम को सुरक्षा घेरे में ले लिया।

हेलीपैड निर्माण में गड़बड़ी और मुख्यमंत्री की सुरक्षा के मामले में गंभीर चूक को लेकर तमाम सवाल उठने लगे हैं। तमाम आला अफसर सीएम के आगमन की तैयारियों में जुटे थे, मगर इंतजामों का जायजा लेने में हद दर्जे की लापरवाही बरती गई, इस मामले से इसकी पोल खुल गई है। सुरक्षा के जानकार हादसे की आशंका से भी इनकार नहीं कर रहे हैं।

200 मीटर पैदल चलकर पीड़ितों से मिले सीएम

खेत में हेलीकॉप्टर उतरने के बाद करीब 200 मीटर पैदल चलकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अंधड़ में मारे गए मृतकों के परिवारों से मिलने पहुंचे। उन्होंने यहां घटनास्थल भी देखा। पीड़ित परिवारों से बात की। मृतकों के परिजनों के हाल-चाल लेने के साथ उनका नाम और पीड़ा पूछते हुए ढांढस बंधाया। यहां करीब 20 मिनट तक सीएम रुके। इस दौरान सांसद राजवीर सिंह से पीड़ित परिवार को 4-4 लाख की सहायता राशि के चेक 3 मृतकों के परिवार को दिलाया। उन्होंने पीड़ित परिवार से घायलों के उपचार के बारे में पूछताछ की। पीड़ितों के अच्छे उपचार के लिए डीएम को निर्देश दिए। यहां से करीब 100 मीटर पैदल चलकर गली से निकलने के बाद, सहावर के डकैती पीड़ित दो परिवारों से भी सीएम ने मुलाकात की। उन्हें मुआवजा राशि के चेक दिए। वहां रोती महिलाओं को ढांढस बंधाकर आश्वासन दिया। इसके बाद Helipad की जगह खेत में ही उतारे गए हेलीकॉप्टर से कासगंज कलक्ट्रेट पहुंचे।

-Legend News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »