EVM विवाद: असम के एक मतदान केंद्र पर दोबारा चुनाव कराने का आदेश

गुवाहाटी। चुनाव आयोग ने गुरुवार शाम को भाजपा उम्मीदवार की पत्नी के वाहन में इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन EVM पाए जाने के बाद दक्षिणी असम के एक मतदान केंद्र पर दोबारा चुनाव कराने का आदेश दिया है। चुनाव आयोग ने एक बयान में कहा कि पीठासीन अधिकारी और तीन अन्य अधिकारियों को निलंबित कर दिया गया है। साथ ही रतबारी विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र के अंतर्गत इंदिरा एमवी मतदान केंद्र पर दोबारा मतदान करवाने के आदेश दिए हैं।
बयान में कहा गया है, “हालांकि ईवीएम की सील बरकरार पाई गई थी लेकिन फिर भी एहतियात के तौर पर इंदिरा एमवी मतदान केंद्र में दोबारा मतदान कराने का निर्णय लिया गया है।
आयोग ने घटना के बारे में विशेष पर्यवेक्षक से रिपोर्ट भी मांगी है।
बयान में कहा गया है कि करीमगंज ईवीएम मशीन ले जा रहे अधिकारियों की कार खराब हो गई, जिसके बाद वे पास से गुजर रहे एक निजी वाहन में बैठ गए, जहां 50 से अधिक लोगों ने पथराव शुरू कर दिया।
कनैसिल (करीमगंज जिले के अंतर्गत) में भीड़ ने आरोप लगाया कि ईवीएम के साथ छेड़छाड़ की जा रही थी। निजी कार पड़ोसी पथरकंडी निर्वाचन क्षेत्र के भाजपा उम्मीदवार कृष्णेंदु पॉल की पत्नी की थी।
बयान में कहा गया है कि गुरुवार की रात हुई भारी बारिश और सड़कों पर कीचड़ होने के कारण मतदान कर्मियों की आधिकारिक कार खराब हो गई और फिर वे अपने निजी ईवीएम और अन्य सामग्रियों के साथ वाहन के स्वामित्व की जांच किए बिना एक निजी वाहन पर सवार हो गए।
घटना की जानकारी मिलने के तुरंत बाद जिला पुलिस अधीक्षक (एसपी) के साथ करीमगंज के जिला चुनाव अधिकारी घटनास्थल पर रात 10.20 बजे वहां पहुंचे। गुरुवार की रात को पथराव के दौरान, करीमगंज के एसपी मयंक कुमार को मामूली चोट लग गई और भीड़ को तितर-बितर करने के लिए हवा में गोली चलाने का सहारा लेना पड़ा।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *