मस्ती के लिए एस्कॉर्ट बुलाना बिजनेसमैन दोस्तों को महंगा पड़ा

नई दिल्‍ली। दो बिजनेसमैन दोस्तों ने मस्ती के मूड में एस्कॉर्ट सर्विस का नंबर लगाया। हालांकि, ऑनलाइन 3 हजार में तय हुआ यह सौदा दोनों के लिए काफी महंगा साबित हो गया। एस्कॉर्ट के नाम पर आई लड़की अपने साथ कैब में 2 और लोगों को भी लेकर आई। फिर तीनों ने मिलकर दोनों दोस्तों से सारा कैश, मोबाइल और एटीएम कार्ड लूट लिया।
दो कारोबारी दोस्त नेहरू प्लेस सत्यम सिनेमा के पास बैठे थे। एक ने मजाक-मजाक में गूगल पर एस्कॉर्ट सर्विस टाइप कर दिया। कई नंबर आए। एक डायल किया। 3 हजार में बात हो गई। 20 मिनट बाद सत्यम सिनेमा के पास एक कार रुकी। उसमें एक लड़की और दो लड़के थे। दोनों दोस्त लड़की आने पर घबरा गए। कॉल नहीं उठाया लेकिन लड़के भांप गए। फिर गाड़ी में बैठने को कहा। मना किया तो झूठे मुकदमे में फंसाने की धमकी दी। कार में बैठाकर पिस्टल दिखाई और सब कुछ लूटकर फरार हो गए।
पीड़ित के मुताबिक वह रमेश पार्क लक्ष्मी नगर में रहते हैं। कपड़े का कारोबार करते हैं। दोस्त के पास नेहरू प्लेस गए थे। फिर दोनों सत्यम सिनेमा के पास बात करने लगे। इसी दौरान सारा वाकया हुआ। दोनों घबराकर कार में बैठ गए। कार में दोनों लड़के दोस्तों को धमकाने लगे। कहा जो कुछ भी तुम्हारे पास है, चुपचाप दे दो। लड़की के केस में फंसा देंगे। तभी एक लड़के ने पिस्टल निकाल ली। 39 हजार 800 रुपये कैश छीन लिया। एटीएम कार्ड का पिन पूछकर 5 हजार रुपये ऑनलाइन ट्रांसफर किए। ओखला मंडी के पास एटीएम से 18 हजार रुपये भी निकाल लिए।
थोड़ा आगे ले जाकर पीड़ितों को पिस्टल दिखाते हुए आरोपी बोले, हम खन्ना के आदमी हैं। किसी को कुछ भी बताया तो अच्छा नहीं होगा। पुलिस ने लूट का मुकदमा दर्ज कर लिया है।
पीड़ितों के मोबाइल में जिस नंबर से कॉल आई थी, उस पर कालकाजी थाने के सब इंस्पेक्टर विनोद कुमार ने जांच के लिए कॉल की। कॉल पिक करने वाले शख्स ने धमकाया और गाली-गलौज की। कहने लगा, खन्ना का आदमी हूं और इन दोनों के साथ हमने कुछ नहीं किया है। हमारी पुलिस में अच्छी जान-पहचान है और तुम्हारी वर्दी उतरवा दूंगा। पुलिस आरोपियों की पकड़ के लिए दबिश दे रही है।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *