बेनतीजा रही ट्रंप और किम के बीच हुई परमाणु शिखर वार्ता

वॉशिंगटन। उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग उन और अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के बीच गुरुवार को हुई परमाणु शिखर वार्ता बिना किसी समझौते के खत्म हो गई। वियतनाम के हनोई में दोनों नेताओं के बीच दो दिन चली बैठक के बाद गुरुवार को व्हाइट हाउस ने यह जानकारी दी।
व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव सारा सैंडर्स ने एक बयान में कहा कि इस बार कोई समझौता नहीं हो पाया, लेकिन दोनों दल भविष्य में बैठक के इच्छुक हैं। दोनों नेताओं के बीच यह दूसरी शिखर मुलाकात थी। बुधवार के बाद गुरुवार को भी दोनों नेता विएतनाम की राजधानी हनोई में शिखर सम्मेलन में मिले, लेकिन उसका ठोस परिणाम नहीं निकला।
बताते चलें कि इससे करीब आठ महीने पहले दोनों नेताओं के बीच सिंगापुर में पहली ऐतिहासिक बैठक हुई थी।अमेरिकी की ओर से विदेश मंत्री माइक पोम्पियो और व्हाइट हाउस के चीफ ऑफ स्टाफ मिक मलवनी भी उपस्थित थे।
वहीं, किम के साथ उत्तर कोरिया के विदेश मंत्री री योंग-हो और वरिष्ठ अधिकारी किम योंग चोल बैठक में मौजूद रहे थे। विश्लेषकों के मुताबिक हनोई में उनकी दूसरी बैठक में ठोस कदम उठाए जाने की आवश्यकता है।
मगर, ऐसा प्रतीत होता है कि ट्रंप किसी भी बड़ी सफलता की उम्मीद नहीं जगाना चाहते और इसीलिए उन्होंने गुरुवार को संवाददाताओं से कहा, “मुझे कोई जल्दबाजी नहीं है।”
उत्तर कोरियाई नेता ने कहा कि दोनों के बीच एक बहुत ही दिलचस्प बातचीत होगी और उम्मीद है कि हनोई शिखर सम्मेलन से निकले परिणाम का सभी स्वागत करेंगे। परमाणु निरस्त्रीकरण से पीछे हटने की खबरों का खंडन करते हुए ट्रंप ने कहा था कि वह किम को उनके देश के लिए एक शानदार आर्थिक भविष्य हासिल करने में मदद करने के लिए तत्पर हैं।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »