अपना दल से भी बीजेपी के मतभेद खत्‍म, मिलकर लड़ेंगे चुनाव

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में लंबे वक्त तक चली राजनीतिक खींचतान के बाद अपना दल और भारतीय जनता पार्टी ने एक बार फिर लोकसभा चुनाव में साथ मैदान में उतरने का फैसला किया है। बीते कई दिनों से अपना दल और बीजेपी के बीच जारी मतभेद अब खत्म हो गए हैं और भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह ने शुक्रवार को औपचारिक रूप से यह ऐलान कर दिया है कि बीजेपी और अपना दल यूपी में गठबंधन करेगी और अनुप्रिया की पार्टी को पिछले समझौते की तरह इस बार भी दो सीटें दी जाएंगी।
दिल्ली में अपना दल की नेता अनुप्रिया पटेल और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह की बैठक के बाद दोनों दलों के बीच गठबंधन पर सहमति बनी है। इसके अलावा बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने यह ऐलान भी किया है कि इस गठबंधन की ओर से केंद्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल मीरजापुर की लोकसभा सीट पर दावेदारी करेंगी। शाह ने यह स्पष्ट किया है कि अभी गठबंधन की दूसरी सीट पर फैसला नहीं हुआ है। बता दें कि साल 2014 में भी अपना दल और बीजेपी के बीच यूपी में समझौता हुआ था।
प्रतापगढ़ और मीरजापुर सीटों पर मिली थी जीत
2014 के चुनाव में अनुप्रिया पटेल की पार्टी को प्रदेश की दो लोकसभा सीटों पर जीत मिली थी। इनमें मीरजापुर की सीट से अनुप्रिया पटेल और प्रतापगढ़ लोकसभा सीट से पार्टी नेता कुंवर हरिवंश सिंह चुनाव जीते थे। चुनाव जीतने के बाद अनुप्रिया पटेल को केंद्र में स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग का राज्यमंत्री भी बनाया गया था, लेकिन 2017 में यूपी में हुए लोकसभा चुनाव के बाद से ही अनुप्रिया और बीजेपी के बीच रिश्ते तल्ख हो गए थे।
अनुप्रिया और बीजेपी के बीच हुए थे मतभेद
अनुप्रिया के पति और एमएलसी आशीष पटेल ने जहां बीजेपी पर अपना दल की अनदेखी करने का आरोप लगाया था। वहीं प्रदेश की सरकार की खिलाफत करते हुए अनुप्रिया ने भी यह कहा था कि उन्हें किसी सरकारी कार्यक्रम में आमंत्रित नहीं किया जा रहा है। अनुप्रिया ने इससे नाराज होकर तमाम सरकारी कार्यक्रमों का बहिष्कार भी किया था। पूर्व में यह माना जा रहा था कि अनुप्रिया बीजेपी का दामन छोड़कर गठबंधन के साथ जा सकती हैं, लेकिन समय बीतते बीजेपी ने अपने सहयोगी को मना लिया। इसके बाद दिल्ली में हुई कुछ बैठकों और समझौतों के बाद शुक्रवार को औपचारिक रूप से दोनों पार्टियों के समझौते की घोषणा की गई।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »