एजाज़ खान को बांद्रा में नहीं मिला किराये का घर

Ejaz Khan did not find a house in Bandra
एजाज़ खान को बांद्रा में नहीं मिला किराये का घर

अभिनेता एजाज़ खान ने एक सनसनीखेज खुलासा करते हुए कहा है कि उनके मुस्लिम होने के कारण उन्हें बांद्रा में किराए का घर नहीं मिल रहा. एजाज़ का कहना है कि पिछले आठ महीनों से उनको बांद्रा में किराए का घर तलाश रहे हैं लेकिन मुस्लिम होने के कारण उन्हें कोई घर देने को तैयार नहीं है.

एजाज़ के मुताबिक़ “मैंने घर के लिए कई ब्रोकर से संपर्क भी किया है. ब्रोकर ने मुझे कभी कम्युनिटी तो कभी कुत्ते की परेशानी बताकर हाथ खड़े कर लिये, मैं इससे थक गया हूं. मैं बांद्रा नहीं छोड़ना चाहता क्योंकि मेरा यहां सोशल सर्कल है”

एजाज़ खान ने टीवी शो ‘कहीं तो होगा’ से डेब्यू किया था हालांकि उन्हें पहचान ‘क्योंकि सास भी कभी बहू थी’ के जुबेर कैरेक्टर से मिली. इसके अलावा कई धारावाहिकों में काम कर चुके एजाज खान कई विवादों के कारण भी सुर्ख़ियों में रहते आए हैं.

बता दें कि इससे पहले इमरान हाशमी ने भी मुस्लिम होने के कारण घर ना मिलने की बात कही थी. एजाज जिस एरिये की बात कर रहे हैं उसे मुस्लिम बहुल क्षेत्र माना जाता है. ऐसे में उनका घर ना मिलने की बात को मुस्लिम होने से जोड़ना कई सवाल खड़े करता है.
एक्टर एजाज खान ने हाल ही में सोनी टीवी पर टेलीकास्ट हो रहे ‘मोह मोह के धागे’ से टेलीविजन पर कमबैक किया है। इसमें एजाज मुखी का रोल प्ले कर रहे हैं जो गुजरात के एक गांव का सरपंच हैं। एक एंटरटेनमेंट वेबसाइट को दिए इंटरव्यू में एजाज बताते हैं कि उनका ये रोल बहुत ही एक्साइटिंग है और वो काफी समय से कुछ डिफरेंट करना चाहते थे। एजाज कहते हैं कि इसमें वो 42 साल के एक मैच्योर मैन का किरदार निभा रहे है और उन्हें 20 साल की लड़की से प्यार हो जाता है। यह शो मेरे लिए अलग इसलिए है क्योंकि ये कैरेक्टर गांव का सरपंच है और गुजरात का रहने वाला है। इसी वजह से एजाज ने दो हफ्ते गुजरात में बिताए थे, ताकि वो बेहतर तरीके से परफॉर्म कर सके। आपको बता दें कि एजाज अपने करियर में कई टीवी शो और फिल्म्स भी कर चुके हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *