पूछताछ के बाद ED की टीम ने जेल में दिखाई चिदंबरम की गिरफ्तारी

नई दिल्‍ली। ED की टीम आज पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम से पूछताछ के लिए तिहाड़ जेल पहुंची और 2 घंटे तक पूछताछ की। इस बीच चिदंबरम के पुत्र और कांग्रेस सांसद कार्ति चिदंबरम अपनी मां नलिनी के साथ तिहाड़ पहुंचे। ED ने अदालत को सूचित किया कि उसने तिहाड़ जेल में चिदंबरम से पूछताछ की है और उन्हें गिरफ्तार कर लिया है, जिसके बाद पेशी वारंट जारी किया गया। ED ने चिदंबरम से पूछताछ के लिए 14 दिन की हिरासत की मांग की।
गौरतलब है कि विशेष अदालत ने ED (प्रवर्तन निदेशालय) को पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम से तिहाड़ जेल में पूछताछ और अरेस्ट की इजाजत दे दी है।
अदालत ने कल दिए अपने आदेश में कहा था कि पूछताछ के बाद आए निष्कर्षों के बाद एजेंसी अरेस्ट करने पर अपना फैसला ले सकती है।
स्पेशल जज अजय कुमार कुहार ने कहा, ‘मनी लॉन्ड्रिंग के आरोपी को प्रवर्तन निदेशालय अरेस्ट कर सकती है। अगर गिरफ्तारी के लिए पर्याप्त सबूत हैं तो इसमें कोर्ट को दखल देने की जरूरत नहीं है। चूंकि आरोपी पहले से ही किसी अन्य केस में गिरफ्तार है तो पूछताछ के लिए अनुमति की आवश्यकता है।’
जज ने अपने फैसले में आगे कहा, ‘कोर्ट की अनुमति के साथ इस तरह की पूछताछ में अगर परिस्थितियां गिरफ्तारी के लिए वाजिब हैं तो ऐसा किया जा सकता है।’
पूछताछ के लिए दिया गया 30 मिनट का समय
बता दें कि आईएनएक्स मीडिया मनी लॉन्ड्रिंग केस में राउज एवेन्यू अदालत ने प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) को पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम को गिरफ्तार करने और पूछताछ करने की अनुमति दे दी है। अदालत ने जांच एजेंसी को 30 मिनट का वक्त पूछताछ के लिए तय किया है। सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने कोर्ट के सामने चिदंबरम की गिरफ्तारी के लिए दलील पेश की थी।
चिदंबरम के वकील ने अलग से गिरफ्तारी की मांग का किया विरोध
तुषार मेहता ने पूर्व वित्त मंत्री की गिरफ्तारी की मांग करते हुए कहा था, ‘आईएनएक्स मामले में मनी लॉन्ड्रिंग, सीबीआई के केस से अलग है और इसमें उन्हें गिरफ्तार कर पूछताछ करने की जरूरत है।’ चिदंबरम का पक्ष रखते हुए वरिष्ठ वकील और कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने कहा था कि पूरा केस सीबीआई की एफआईआर पर ही आधारित है। इसमें अलग से गिरफ्तारी की आवश्यकता नहीं है।
SC में चिदंबरम, अपमानित करना चाहती है सीबीआई
आईएनएक्स मीडिया भ्रष्टाचार मामले में जेल में बंद पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने इससे पहले जमानत के लिए सुप्रीम कोर्ट में गुहार लगाई थी। चिदंबरम ने कहा कि सीबीआई उन्हें नीचा दिखाने (अपमानित करने) के लिए जेल में रखना चाहती है। चिदंबरम की तरफ से सीनियर वकील कपिल सिब्बल और अभिषेक मनु सिंघवी ने सुप्रीम कोर्ट में जमानत याचिका दायर की है। बता दें कि चिदंबरम अब तक इसी मामले में सीबीआई की न्यायिक हिरासत में थे।
वहीं दिल्ली की विशेष अदालत ने कांग्रेस नेता चिदंबरम के खिलाफ प्रोडक्शन वारंट (व्यक्तिगत पेशी) जारी किया है। उन्हें आईएनएक्स मामले में गुरुवार अदालत में पेश होने को कहा है। विशेष अदालत ने तिहाड़ जेल अधिकारियों को निर्देश जारी किए हैं कि वह गुरुवार को तीन बजे चिदंबरम को अदालत में पेश करें। इससे पहले मंगलवार को विशेष अदालत ने ED के तीन अधिकारियों को आईएनएक्स मीडिया भ्रष्टाचार मामले में चिदंबरम से पूछताछ की अनुमति दी थी।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *