ED को पूरा भरोसा, पी. चिदंबरम की कस्टडी मिल जाएगी

नई दिल्‍ली। प्रवर्तन निदेशालय (ED) को पूरा भरोसा है कि उसे पी. चिदंबरम की कस्टडी मिल जाएगी। ED पी. चिदंबरम से पूछना चाहता है कि उनके बेटे कार्ति चिदंबरम ने जो स्पेन में टेनिस क्लब, यूके में कॉटेज के साथ-साथ देश-विदेश में कुछ अन्य संपत्तियां खरीदीं, उनके पैसे कहां से आए थे। ED के मुताबिक कार्ति ने ये संपत्तियां 54 करोड़ रुपये में खरीदीं।
ED ने अक्टूबर 2018 में एक अटैचमेंट ऑर्डर पास किया था जिसके मुताबिक ये सारी संपत्तियां आईएनएक्स मीडिया केस में रिश्वतखोरी के पैसे से खरीदी गई थीं। पी. चिदंबरम इस केस में अपने बेटे के साथ सह-अभियुक्त हैं। ईडी और सीबीआई इन दोनों बाप-बेटे के खिलाफ INX मीडिया मनी लॉन्ड्रिंग केस और एयरसेल-मैक्सिस 2जी स्कैम केस की जांच कर रही है। पिता-पुत्र के खिलाफ चार्जशीट भी दायर की जा चुकी है और उनकी प्रॉपर्टीज भी अटैच की गई हैं जिनमें दिल्ली के जौर बाग स्थित चिदंबरम का 16 करोड़ रुपये का बंगला भी शामिल है। स्पेन के बार्सिलोना में खरीदी गई जमीन और टेनिस क्लब की कीमत 15 करोड़ रुपये बताई जा रही है।
ED ने कार्ति का इंडियन ओवरसीज बैंक (आईओबी) में 9.23 करोड़ रुपये का फिक्स्ड डिपॉजिट (एफडी) भी अटैच कर लिया है। कार्ति का यह एफडी आईओबी के चेन्नै स्थित नुंगाबक्कम ब्रांच में है। साथ ही, चेन्नै के डीसीबी बैंक में 90 लाख रुपये का एफडी भी अटैच किया गया है जो कार्ति से जुड़ी कंपनी अडवांटेज स्ट्रैटिजिक कंसल्टिंग प्राइवेट लि. (एएससीपीएल) का है।
ईडी का दावा है कि पीटर मुखर्जी ने एएससीपीएल और कार्ति से जुड़ी संस्थाओं को 3.09 करोड़ रुपये दिए थे। पीटर ने जांच के दौरान माना था कि कार्ति के निर्देश पर डेबिट नोट्स तैयार किए गए ताकि कुछ ट्रांजैक्शन दिखाए जा सकें जो असल में कभी हुए ही नहीं।
ईडी के अटैचमेंट ऑर्डर में आगे कहा गया है कि जांच में कार्ति से जुड़े संस्थानों में आए पैसे एएसपीसीएल के पास पहुंचने के सबूत मिले। इसमें कहा गया है, ‘एएसपीसीएल को मिले पैसे निवेश किए गए और एएसपीसीएल ने वासन हेल्थ केयर के शेयर भी खरीदे। इनमें से कुछ शेयर बेचकर 41 करोड़ रुपये का मुनाफा कमाया गया।’
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »