अर्थव्यवस्था के indicators बेहतरी के संकेतक: जेटली

नई दिल्‍ली। वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि अर्थव्यवस्था के indicators बेहतरी के संकेतक हैं। चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में विनिर्माण क्षेत्र में बढ़ोतरी का उल्लेख करते हुए आज उन्‍होंने कहा कि सभी अार्थिक सूचकांक अर्थव्यवस्था की बेहतरी का संकेत दे रहे हैं।

श्री जेटली लोकसभा में प्रश्नकाल के दौरान पूछे गये एक पूरक प्रश्न का उत्तर दे रहे थे।

उन्होंने तृणमूल कांग्रेस के सौगत रॉय के उस दावे को खारिज कर दिया जिसमें उन्होंने मौजूदा सरकार में अर्थवयवस्था के गोता लगाने की बात कही थी।

सहकारी बैंकों को कोई आयकर छूट नहीं

सरकार ने आज लाभ अर्जित कर रहीं सहकारी बैंकों को आयकर में छूट देने की संभावना को खारिज करते हुए कहा कि ये बैंक अन्य व्यावसायिक बैंकों की तरह काम करती हैं और उसी अनुसार इन्हें देखा जाना चाहिए।

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने लोकसभा में राम सिंह राठवा के प्रश्न के उत्तर में कहा कि सहकारी बैंक किसी अन्य व्यावसायिक बैंक की तरह काम करते हैं और आयकर अधिनियम की धारा 80पी के तहत उन्हें छूट देने से जुड़ा प्रिंसिपल ऑफ म्यूचियलिटी उन पर लागू नहीं होता क्योंकि उनका कार्यक्षेत्र गैर-सदस्यों के लिए भी होता है।

वित्त मंत्री ने कहा, ‘‘आयकर लाभ पर कर होता है और लाभ अर्जित कर रहीं सहकारी बैंकों को आयकर भुगतान से छूट देने के पीछे कोई तर्क नहीं है।’’

जेटली ने कहा कि इनमें से अधिकतर बैंक कई तरह की बैंकिंग सुविधाएं भी प्रदान करती हैं मसलन लॉकर और सुरक्षित जमा वॉल्ट तथा बैंक गारंटी आदि।

कुलमिलाकर अर्थव्यवस्था के indicators बेहतरी के संकेतक हैं।-एजेंसी