E-commerce कंपनियां कर रहीं नई सरकार का इंतजार

नई दिल्‍ली। पिछले तीन महीने से देश की दो बड़ी E-commerce कंपनियों की बिक्री काफी घट गई है क्योंकि इन कंपनियों पर मिलने वाली भारी भरकम छूट पर रोक लग गई है। इससे बाजार में मौजूद दुकानदारों के पास भीड़ फिर से बढ़ने लगी है। केंद्र सरकार ने इस साल फरवरी में E-commerce कंपनियों पर नकेल कसने के लिए नई एफडीआई पॉलिसी को लागू किया था। इसका सबसे ज्यादा नुकसान फ्लिपकार्ट और अमेजन को हुआ है। यह दोनों कंपनियां अपने प्लेटफॉर्म पर सबसे ज्यादा छूट देती थीं, जिससे इनके यहां पर काफी बिक्री होती थी।

खुदरा दुकानदारों को हुआ फायदा
जहां एक तरफ ई-कॉमर्स कंपनियों को काफी नुकसान हुआ है, वहीं दूसरी तरफ खुदरा दुकानदारों को फायदा पहुंचा है। जहां पहले इन दुकानों पर ग्राहक आ नहीं रहे थे, वहीं पिछले तीन महीने में इनके यहां ग्राहक आने से दुकानदार काफी खुश हैं।

नई सरकार का इंतजार
फ्लिपकार्ट और अमेजन को अब नई सरकार का बेसब्री से इंतजार है। ऐसा इसलिए क्योंकि इन कंपनियों का मानना है कि नई सरकार के आने से ई-कॉमर्स पॉलिसी में किसी तरह की ढील मिल सकती है। खुदरा व्यापारी सरकार के लिए बड़ा वोट बैंक हैं। इस लिए फिलहाल वर्तमान सरकार से इन कंपनियों को किसी तरह की राहत मिलेगी, इसकी संभावना काफी कम है।

इन पर मिलती थी भारी छूट
अभी तक ई-कॉमर्स कंपनियों पर कंज्यूमर इलेक्ट्रॉनिक्स, मोबाइल फोन, फैशन और लाइफस्टाइल जैसे सेगमेंट पर लोगों को काफी छूट मिलती थी। भारत के ई-कॉमर्स बिजनेस में इन उत्पादों की हिस्सेदारी 80 फीसदी के करीब है। इस वजह से लोग इन कंपनियों से ही सामान मंगाना ज्यादा पसंद करते थे। छूट का अनुपात इतना ज्यादा था, जिसे खुदरा व्यापारी नहीं दे पाते थे।

सेल में भी नहीं मिल रही है छूट
फिलहाल तीन महीने में ई-कॉमर्स कंपनियों ने कोई बड़ी सेल भी नहीं निकाली है। जो भी सेल चली, उसमें छूट नहीं मिलने से लोगों ने सामान नहीं खरीदा। लोगों को लग रहा है कि जो छूट अब ई-कॉमर्स कंपनियों पर मिल रही है, उससे ज्यादा छूट वो दुकान में जाकर ले लेंगे।

छूट में आई 14 फीसदी की कमी
फिलहाल ई-कॉमर्स कंपनियों पर पहले जो छूट मिलती थी, उसके मुकाबले अब इसमें 14 फीसदी की कमी आ गई है। अब यह कंपनियां एमआरपी पर ही सामान बेच रही हैं। जो छूट दी भी जा रही है वो सामान बेचने वाले विक्रेता ही दे रहे हैं।

एक्सचेंज पर सामान खरीदने पर नुकसान
फिलहाल E-commerce कंपनियों में एक्सचेंज पर सामान खरीदने से भी नुकसान हो रहा है। वहीं बैंक के जरिए भी मिलने वाली छूट में कमी आई है। सबसे ज्यादा 36 फीसदी स्मार्टफोन, 20 फीसदी टीवी और कपड़ों की बिक्री आठ फीसदी होती थी। फिलहाल इनकी बिक्री में 20-25 फीसदी की कमी देखने को मिली है।

-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »