नीरज के भाले, सुहास के रैकेट की ई-नीलामी, नमामि गंगे मिशन में लगेगी राश‍ि

नई द‍िल्‍ली। संस्कृति मंत्रालय द्वारा आज नीरज चोपड़ा का भाला और  सुहास एलवाई के रैकेट सह‍ित ओलंप‍िक व पैरालंप‍िक ख‍िलाड़‍ियों  के कई यादगार सामानों की ई नीलामी की जा रही है।  नीरज के भाले का बेस प्राइस लगभग 75 लाख रखा गया है। इसके अलावा नीलामी में गाज‍ियाबाद के डीएम सुहास एलवाई का रैकेट, अवनी लखेरा की टीशर्ट, सुम‍ित अंत‍िल का भाला, लवलीना के बॉक्‍स‍िंंग ग्‍लव्‍स पर लगातार बोली लगाई जा रही है। समाचार ल‍िखे जाने तक टोक्यो ओलंपिक खिलाड़ियों के हस्ताक्षर वाले स्टोल का आधार मूल्य 90 लाख रुपये की बोली लगाई जा चुकी है।

ई-नीलामी से प्राप्त रकम को नमामि गंगे मिशन में प्रयोग किया जाएगा। इस नीलामी में 2700 चीजों को शामिल किया गया है। स्मृति चिन्ह में अन्य पदक विजेता ओलंपियन और पैरालिम्पियन के खेल गियर और उपकरण, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा पीएम को भेंट किए गए अयोध्या राम मंदिर की प्रतिकृति और उत्तराखंड के पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज द्वारा प्रस्तुत चारधाम की लकड़ी की प्रतिकृति भी शामिल है।

गौरतलब है कि‍ संस्कृति मंत्रालय की ओर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पिछले दो सालों में मिले उपहारों व स्मृति चिह्नों की ई-नीलामी की जा रही है। इसके लिए आज यानी शुक्रवार से बोली लगनी शुरू हो गई है। इस ई-नीलामी में टोक्यो ओलंपिक और पैराओलंपिक के खिलाड़ियों के ग्लब्स, रैकेट व अन्य चीजों को भी शामिल किया गया है।

10 करोड़ तक पहुंची बोली
अभी तक मिली जानकारी के अनुसार खिलाड़ियों के उपकरणों को हाथोंहाथ लिया जा रहा है। टोक्यो ओलंपिक में पहली बार क्वालिफाई करने वाली भवानी देवी की फेनसिंग, पैरा ओलंपिक के स्वर्ण पदक विजेता कृष्णा नागर व सिल्वर मेडलिस्ट सुहास एलवाई के रैकेट की बोली 10-10 करोड़ तक पहुंच गई है।

वहीं भाला फेंक में गोल्ड मेडल जीतने वाले नीरज चोपड़ा के भाले की बोली 1 करोड़ 20 लाख पहुंच चुकी है। मुक्केबाज लवलीना के बॉक्सिंग ग्लब्स भी 1 करोड़ 80 लाख के पार जा चुके हैं। सुमित एंटिल के भाले की बोली एक करोड़ तो खिलाड़ियों के ऑटोग्राफ के फ्रेम की बोली भी एक करोड़ तक पहुंच चुकी है।

सात अक्टूबर तक चलेगी नीलामी
17 सितंबर से शुरू हुई यह ई-नीलामी सात अक्टूबर तक चलेगी। इसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को मिले उपहारों, स्मृति चिह्नों, उनकी जैकटों व अन्य सामान को शामिल किया गया है। बताया जा रहा है कि नीलामी में 2700 से ज्यादा चीजें शामिल हैं।

नीलामी से प्राप्त होने वाली रकम को नमामि गंगे मिशन में प्रयोग किया जाएगा। 2019 में भी इसी तरह की नीलामी में 2770 चीजों को शामिल किया गया था।
– एजेंसी

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *