पुलवामा हमले से ICC World Cup में होने वाले भारत-पाक मैच पर संकट के बादल

नई दिल्‍ली। भारत और पाकिस्तान के बीच ICC World Cup में होने वाले जिस ‘महामुकाबले’ का इंतजार दुनिया भर के क्रिकेट फैंस कर रहे थे, पुलवामा आतंकी हमले के बाद अब उस पर संकट के बादल छाने लगे हैं। भारत को ICC World Cup में पाकिस्तान के खिलाफ मैच खेलना चाहिए या नहीं, यह अभी सबसे ज्वलंत सवाल है। इमरान खान की तस्वीर को ढकने का फैसला करने वाले प्रतिष्ठित क्रिकेट क्लब ऑफ इंडिया (सीसीआई) के सेक्रटरी सुरेश बाफना ने कहा है कि भारत को वर्ल्ड कप में पाकिस्तान से नहीं खेलना चाहिए।
उन्होंने कहा कि पाकिस्तानी प्रधानमंत्री और पूर्व क्रिकेटर इमरान खान कश्मीर में हुए इस हमले के खिलाफ खुलकर सामने नहीं आए हैं ऐसे में यही जाहिर होता है कि पाकिस्तान कहीं न कहीं इसमें शामिल है। उन्होंने कहा, ‘सीसीआई एक खेल संस्था है, लेकिन खेल से पहले देश आता है।’ उधर, स्पिनर हरभजन सिंह ने भी एक टीवी कार्यक्रम में खुलकर अपनी राय रखते हुए कहा कि भारत को पाकिस्तान से क्रिकेट संबंध तोड़ देने चाहिए। देश से बड़ा क्रिकेट नहीं है।
शुरू है उलटी गिनती
ICC World Cup की उलटी गिनती शुरू है और अब क्रिकेट के महाकुंभ को शुरू होने में महज 99 दिन बाकी हैं। भारत अपने अभियान की शुरुआत 5 जून को साउथ अफ्रीका के खिलाफ करेगा। पाकिस्तान के खिलाफ मैच 16 जून को है।
अभी महामुकाबले में समय है और भारतीय क्रिकेट बोर्ड बीसीसीआई 28 तारीख को होने वाली ICC की बैठक में पाकिस्तान से वर्ल्ड कप में मैच नहीं खेलने की बात रख सकता है। आईसीसी का शेड्यूल बदला जाना अब मुमकिन नहीं। ऐसे में भारत अगर पाकिस्तान के खिलाफ मैच खेलने से इंकार करता है तो उसे 2 अंक तो गंवाने पड़ेंगे ही, साथ ही उस पर जुर्माना भी लग सकता है।
भारत और पाकिस्तान के बीच 2012 से द्विपक्षीय सीरीज नहीं खेली गई है। अंतिम बार ये दोनों टीमें करीब दो साल पहले आईसीसी चैंपियंस ट्रोफी के फाइनल में भिड़ीं थीं, तब बाजी पाकिस्तान के हाथ लगी थी। हालांकि वर्ल्ड कप में इन दोनों के बीच 6 बार टक्कर हुई है और भारत हर बार विजेता रहा है। बीसीसीआई के कई बड़े अधिकारी इस मसले पर बोलने से फिलहाल बच रहे हैं, लेकिन आईपीएल चेयरमैन राजीव शुक्ला ने कहा है कि सरकार से मंजूरी मिलने तक पाकिस्तान से कोई मैच नहीं खेलेंगे। उन्होंने कहा, ‘हमारी नीति और स्थिति बड़ी स्पष्ट है, जब तक सरकार मंजूरी नहीं देगी हम पाकिस्तान के साथ नहीं खेलेंगे।’
दुबई बैठक में पाक उठाएगा मुद्दा
पुलवामा अटैक के बाद मुंबई के क्रिकेट क्लब ऑफ इंडिया (सीसीआई) ने इमरान की तस्वीर को ढक दिया था, जबकि पंजाब क्रिकेट संघ और राजस्थान क्रिकेट संघ ने अपने-अपने स्टेडियम के अंदर विभिन्न स्थानों पर लगी पाकिस्तानी क्रिकेटरों की तस्वीरों को हटा दिया। पीसीबी ने इसे ‘अफसोसजनक’ बताया और वह इस मुद्दे को इस महीने आईसीसी की बैठक के दौरान बीसीसीआई के साथ उठाएगा। पीसीबी के प्रबंध निदेशक वसीम खान ने कहा कि खेल ने हमेशा राजनीतिक तनाव को कम करने में अहम भूमिका निभाई है। आईसीसी की बैठक दुबई में 28 फरवरी से होनी है।
पीएसएल का ‘ब्लैकआउट’
भारत के रोष का असर पाक क्रिकेट पर भी पड़ रहा है। भारत की प्रोडक्शन कंपनी आईएमजी रिलायंस के पाकिस्तान सुपर लीग (पीएसएल) के बाकी मैचों में प्रोडक्शन से पीछे हटने के बाद अब भारत की वेबसाइट क्रिकबज, स्पोर्ट्स चैनल डी-स्पोर्ट्स और एक ऑनलाइन बेटिंग प्लेटफॉर्म ने पीएसएल का पूरी तरह से बहिष्कार कर दिया है। पीएसएल-2019 की शुरुआत 14 फरवरी को हुई थी और इसी दिन पुलवामा में सीआरपीएफ पर हमला किया गया था। पीसीबी हालांकि इस बात को लेकर आश्वस्त हैं कि जल्द ही पीसीएल को लेकर नया साझेदार मिल जाएगा। उन्होंने हालांकि इस बात पर निराशा जाहिर की है कि भारतीय प्रशंसक पीएसएल नहीं देख पाएंगे।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »