संडलवुड ड्रग्स केस: विवेक ओबरॉय के साले आदित्य अल्वा के यहां CCB की छापेमारी

बेंगलुरु। बेंगलुरु सिटी पुलिस के केंद्रीय अपराध ब्यूरो (CCB) ने संडलवुड (sandalwood Drug Case) में मंगलवार को बॉलीवुड अभिनेता विवेक ओबेरॉय के साले और दिवंगत पूर्व मंत्री जीवराज अल्वा के बेटे आदित्य अल्वा के स्वामित्व वाली संपत्तियों पर छापे मारे।

संडलवुड ड्रग्स केस में अब तक पुलिस ने एक्ट्रेस रागिनी द्विवेदी और संजना गलरानी को ग‍िरफ्तार कर ल‍िया है परंतु आदित्य अल्वा छापेमारी के बाद से ही फरार हैं।

बता दें कि आदित्य अल्वा तब से फरार है, जब से पुलिस ने संडलवुड स्टार रागिनी द्विवेदी के घर पर छापे मारे थे। वहीं रागिनी को सोमवार को 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया था। वह शहर के बाहरी इलाके परप्पना अग्रहारा जेल में है।

पुलिस ने आदित्य के स्वामित्व वाले रिसॉर्ट्स पर भी छापेमारी की। कथित तौर पर वह यहां पार्टियां आयोजित करता था, जिनमें कन्नड़ फिल्म उद्योग के कई फिल्मी सितारे हिस्सा लेते थे। केंद्रीय अपराध ब्यूरो के मुताबिक, आदित्य इस मामले में पांचवां आरोपी बना है।

वह एक प्रभावशाली पारिवारिक पृष्ठभूमि से हैं। उसके दिवंगत पिता जीवनराज अल्वा अपने समय के सबसे शक्तिशाली मंत्रियों और नेताओं में से एक थे. उन्हें दिवंगत मुख्यमंत्री रामकृष्ण हेगड़े का दाहिना हाथ माना जाता था।

दिवंगत जीवराज अल्वा फंडिंग इकट्ठा करने के स्किल के लिए जाने जाते थे। वहीं आदित्य की मां नंदिनी अल्वा की गिनती भी राज्य के प्रतिष्ठित लोगों में होती है। वह एक प्रसिद्ध नृत्यांगना और इवेंट ऑर्गनाइजर हैं। वह बेंगलुरु हब्बा (बेंगलुरु फेस्ट) के संस्थापक सदस्यों में से एक हैं। इस फेस्ट को 1999-2004 के बीच तत्कालीन मुख्यमंत्री एस.एम.कृष्णा के कार्यकाल के दौरान लॉन्च किया गया था।

– एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *