खूंखार आतंकवादी हाफिज सईद गिरफ्तार, जेल भेजा

इस्लामाबाद। दुनिया का मोस्ट वॉटेंड आतंकवादी और मुंबई हमले के मास्टरमाइंड हाफिज सईद को आज पाकिस्तान में गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है। हाफिज को लाहौर से गुजरांवाला जाते वक्त काउंटर टेररिज्म विभाग ने गिरफ्तार किया। खास बात है यह है कि सईद की गिरफ्तारी आतंकी फंडिंग के आरोप में हुई है। हालांकि, पाकिस्तान की इस कार्यवाही पर बहुत भरोसा नहीं किया जा सकता है क्योंकि हाफिज पर पहले भी एक्शन लिए जाने का ड्रामा किया चुका है, लेकिन उसके खिलाफ प्रभावी कदम कभी नहीं उठाया गया। इस बीच, यह भी कहा जा रहा है कि आर्थिक रूप से बदहाल पाकिस्तान दुनिया को भ्रम में रखने के लिए भी यह कार्यवाही कर रहा है। दरअसल, पाकिस्तान को फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स (एफएटीएफ) से ब्लैक लिस्ट होने का डर सता रहा है।
ब्लैक लिस्ट से बचने के लिए पाक का ‘खेल’
बता दें कि आर्थिक रूप से खस्ता हाल पाकिस्तान किसी तरह की पाबंदी झेल पाने की स्थिति में नहीं है इसलिए वह नहीं चाहते हुए भी खुद के पाले-पोसे आतंकियों पर कार्यवाही का दिखावा करने पर मजबूर है। हाफिज सईद संयुक्त राष्ट्र संघ (यूएनओ) ने ग्लोबल टेररिस्ट घोषित है। अमेरिका भी उसे अपनी तरफ से वैश्विक आतंकवादी घोषित करते हुए भारी-भरकम इनाम रखा है।
मुंबई हमले के वकील बोले-ड्रामा है
मुंबई हमले के वकील उज्ज्वल निकम ने हालांकि पाकिस्तान की इस कार्यवाही को महज दिखावा बताया है। हमने मुंबई हमले के बारे में पाकिस्तान को सबूत सौंपे थे। पाकिस्तान ने अंतर्राष्ट्रीय दबाव के कारण दुनिया को धोखा दे रहा है। देखना होगा पाकिस्तान हाफिज के खिलाफ कितना सबूत कोर्ट में पेश करता है और उसे कितनी सजा होगी। नहीं तो मैं इसे एक ड्रामा ही कहूंगा।
मुंबई हमले का मास्टरमाइंड है हाफिज
गौरतलब है कि हाफिज ने ही 26 नवंबर 2008 को मुंबई में हुए आतंकवादी हमले की साजिश रची थी। भारत ने उसके खिलाफ पाकिस्तान को कई सबूत दिए, लेकिन वह हाफिज पर ठोस कार्यवाही की जगह दिखावा ही करता रहा है।
दरअसल, पाकिस्तान ने हाफिज जैसे सैकड़ों खूंखार आतंकवादियों को खुद पाले और उन्हें भारत, ईरान, अफगानिस्तान आदि पड़ोसी देशों के खिलाफ इस्तेमाल किया है। अब पूरी दुनिया इस मसले पर पाकिस्तान को घेरने लगी तो वह खुद को पाक साफ साबित करने की कोशिश में जुट गया। हालांकि, दुनिया के पता है कि इन आतंकवादियों को पाकिस्तानी आर्मी का अब भी भरपूर सहयोग प्राप्त है।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *