KD डेंटल काॅलेज में डॉ. यूसुफ का दर्दरहित Dentistry पर व्याख्यान

मथुरा। दर्द कोई भी हो तकलीफ जरूर होती है। कुछ दर्द ऐसे होते हैं जो बर्दाश्त के बाहर होते हैं। इनमें दांत का दर्द असहनीय होता है। दर्द होने पर कुछ लोग डॉक्टर के पास जाते हैं तो कुछ लोग डॉक्टर के पास जाने से डरते हैं। KD डेंटल काॅलेज एण्ड हाॅस्पिटल में पेनलेस टू पेनफ्री Dentistry कार्यक्रम के तहत पुणे से आए अतिथि वक्ता डॉ. यूसुफ चूनावाला ने कहा कि अब दांत दर्द होने पर डरने की जरूरत नहीं क्योंकि दंत चिकित्सा क्षेत्र में ऐसी टेक्निक का समावेश हो गया है जिसके चलते एक घण्टे में आप भले-चंगे हो सकते हैं। इस कार्यक्रम में 100 से अधिक प्रतिभागियों ने सहभागिता की जिनमें डॉक्टर्स के साथ-साथ छात्र-छात्राएं भी शामिल रहींं। कार्यक्रम का उद्घाटन डीन और कॉलेज के प्राचार्य डॉ. मनेष लाहौरी और अतिथि वक्ता डॉ. यूसुफ चूनावाला ने किया।

KD डेंटल काॅलेज एण्ड हाॅस्पिटल में दर्दरहित और दर्दफ्री Dentistry के साथ ही हम अपने दांतों को कैसे साफ रखें विषय पर एक दिन के सीडीई कार्यक्रम में डॉ. चूनावाला ने कहा कि 40 साल की उम्र पार करते ही अक्सर दांतों में समस्याएं आने लगती हैं। इन दिक्कतों का समय पर इलाज नहीं होने से दांतों को उखड़वाना भी पड़ जाता है, जिसके बाद समस्याएं और बढ़ जाती हैं।

अपने व्याख्यान सत्र के दौरान डॉ. यूसुफ चूनावाला ने विभिन्न आयु वर्ग के रोगियों के दंत चिकित्सा के दौरान दर्द प्रबंधन के विभिन्न तरीकों पर भी प्रकाश डाला तथा सांसों के खराब होने के कारणों और प्रबंधन के बारे में जानकारी दी। डॉ. चूनावाला ने “फ्रेश बर्थ क्लीनिक के कॉन्सेप्ट” पर भी विस्तार से जानकारी दी। डॉ. चूनावाला वर्तमान में डिपार्टमेंट ऑफ पेडोडोंटिक्स एण्ड प्रिवेंटिव डेंटिस्ट्री, एम.ए. रगूनवाला डेंटल कॉलेज पुणे में विभागाध्यक्ष के रूप में कार्य कर रहे हैं। डॉ. चूनावाला 1999 से विभिन्न नैदानिक अनुसंधान परियोजनाओं में भी सक्रिय रूप से शामिल हैं। डॉ. यूसुफ प्रख्यात वक्ता होने के चलते अब तक सम्पूर्ण भारत में 250 से अधिक व्याख्यान दे चुके हैं। कार्यक्रम के अंत में सभी प्रतिभागियों को प्रशंसा-पत्र प्रदान कर सम्मानित किया गया। अतिथि वक्ता डॉ. यूसुफ चूनावाला को डॉ. मनेष लाहौरी ने स्मृति चिह्न प्रदान कर सम्मानित किया।

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *