IMA की 17 जून को देशव्यापी हड़ताल, डा. हर्षवर्द्धन की अपील- Doctors Strike खत्म करें

नई दिल्‍ली। IMA (इंडियन मेडिकल एसोसिएशन) ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, “अस्पतालों में डॉक्टरों की सुरक्षा चाहते हैं… कोलकाता में मेडिकल छात्र बेहद डरे हुए हैं, सड़कों पर हिंसा शुरू हो गई हैं… हम चाहते हैं कि समाज हमारे साथ आए… हम चाहते हैं कि कोलकाता में हुई हिंसा के आरोपियों को सज़ा हो… हम चाहते हैं कि अस्पतालों में हिंसा के खिलाफ केंद्रीय कानून लागू हो… IMA नेे कहा कि हम घोषणा करते हैं कि 17 जून को पूरे देश में हड़ताल की जाएगी, और उस दौरान सिर्फ एमरजेंसी सेवाएं जारी रहेंगी… इस हड़ताल में प्राइवेट अस्पतालों के डॉक्टर भी शामिल होंगे… Doctors Strike शनिवार को भी जारी रहेगी…”

केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री बोले- डॉक्‍टरों को धमका रही हैं ममता

पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता के सरकारी अस्पताल में डॉक्टरों पर हुए हमले के बाद हड़ताल ने देशभर के डॉक्टर एकजुट होकर विरोध-प्रदर्शन कर रह रहे हैं. दिल्ली, मुंबई से लेकर राजस्थान, केरल, छत्तीसगढ़ समेत कई राज्यों में इसका बढ़ता रूप देखना जाने लगा है. ऐसे में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर निशाना साधा है. उन्होंने कहा कि डॉक्टरों को वो धमका रही हैं. उन्हें हड़ताल खत्म करने के लिए कदम उठाना चाहिए.

डॉ. हर्षवर्धन आज ममता बनर्जी को पत्र लिखेंगे और Doctors Strike खत्म करने की अपील करेंगे. डॉ. हर्षवर्धन शनिवार को देश के सभी मुख्यमंत्रियों को पत्र लिखकर अस्पतालों में डॉक्टरों को सुरक्षित माहौल मुहैया कराने की गुजारिश करेंगे. उन्होंने कहा, ”दिल्ली के जो डॉक्टर हड़ताल पर हैं उनसे अपील करेंगे कि जो उन्होंने शपथ लिया था उसे याद करते हुए हड़ताल वापस लें.” हर्षवर्धन ने कहा, ”विरोध का सांकेतिक तरीका हड़ताल के अलावा दूसरा भी हो सकता है. सबसे अपील हड़ताल खत्म करें. सेफ एनवायरनमेंट की कोशिश होनी चाहिए.”

एम्स के रेजिडेन्ट्स डॉक्टर्स एसोशिएशन (RDA) के 7 डॉक्टर का डेलीगेशन स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन से मिले. उन्होंने डॉक्टरों को आश्वासन दिया कि इस मामले में ममता बनर्जी को पत्र लिखेंगे. सुरक्षा के लिए गृहमंत्री अमित शाह से भी व्यक्तिगत अनुरोध करेंगे. उन्होंने डॉक्टरों से अनुरोध किया कि हड़ताल के लिए उसे वापस लेना चाहिए.

गौरतलब है कि पश्चिम बंगाल के एनआरएस मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल में सोमवार को जूनियर डॉक्टरों पर हमला हुआ। इस मामले ने अब तूल पकड़ लिया है और देशभर के डॉक्टर हड़ताल पर चले गए हैं। डॉक्टरों की मांग है कि उन्हें पर्याप्त सुरक्षा मुहैया करवाई जाए। इस हड़ताल के कारण मरीजों और उनके तीमारदारों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। इस हड़ताल को इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने भी अपना समर्थन दिया है और उसकी देशभर की ब्रांच में मौजूद डॉक्टर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। इसी बीच 18 डॉक्टरों ने वर्तमान परिस्थिति में काम करने में अक्षमता जताते हुए पद से इस्तीफा दे दिया है।

-Legend News

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *