पाकिस्‍तानी सेना की वर्दी पहने BAT के दो घुसपैठिए सेना ने मार गिराए

श्रीनगर। जम्‍मू-कश्‍मीर के नौगाम सेक्‍टर में नियंत्रण रेखा पर भारतीय सेना को बड़ी कामयाबी हाथ लगी। सेना ने पाकिस्‍तानी सेना की वर्दी पहने दो घुसपैठियों को मार गिराया। बताया जा रहा है कि ये घुसपैठिए अपनी बर्बरता के लिए बदनाम पाकिस्तान की बॉर्डर ऐक्शन टीम (BAT) के सदस्‍य थे और भारतीय सेना के खिलाफ बड़े हमले की फिराक में थे।
पाकिस्तान निशान वाले हथियार बरामद
इन घुसपैठियों के पास से भारी मात्रा में गोला-बारूद मिला है। इन पर पाकिस्‍तान के निशान बने हुए हैं। इन घुसपैठियों ने पाकिस्‍तान की सेना द्वारा लड़ाई के दौरान पहने जाने वाली ड्रेस पहन रखी थी। इनमें से कुछ घुसपैठियों ने भारत के बीएसएफ और भारतीय सेना के पुराने ड्रेस की तर्ज पर वर्दी पहन रखी थी।
सूत्रों ने बताया कि जब ये घुसपैठिए भारतीय सीमा में प्रवेश कर रहे थे, उस समय उनकी मदद के लिए पाकिस्‍तान की ओर से भारी हथियारों से जमकर गोलाबारी की गई थी।
पाकिस्‍तान को शव वापस लेने के लिए कहेगा भारत
इस बीच सेना ने कहा है कि वह पाकिस्‍तान से कहेगा कि वह इन घुसपैठियों के शव वापस ले क्‍योंकि ऐसा प्रतीत हो रहा है कि मारे गए लोग पाकिस्‍तानी सेना के जवान हैं। पाकिस्‍तानी घुसपैठिए नियंत्रण रेखा पर स्थित घने जंगलों और पहाड़ी इलाकों का फायदा उठाकर भारतीय सीमा में प्रवेश करना चाहते थे। इसी दौरान भारतीय सेना ने उन्‍हें मार गिराया। सेना ने अभी मारे गए कुल घुसपैठियों के संख्‍या की पुष्टि नहीं की है।
अपनी बर्बरता के लिए कुख्‍यात है बॉर्डर ऐक्शन टीम
पाकिस्‍तान की बॉर्डर ऐक्शन टीम BAT वही बर्बर टीम है जो भारतीय सैनिकों के शवों को क्षत-विक्षत करने के लिए कुख्यात है। करगिल युद्ध के दौरान कैप्टन सौरभ कालिया को BAT ने ही टॉर्चर किया था और उनके शरीर को क्षत-विक्षत किया था। जिसके कुछ वक्त बाद उनका शव भारत को सौंपा गया। पिछले दिनों इंटेलिजेंस एजेंसियों ने भी आगाह किया था कि हाल ही में आतंकियों के एक ग्रुप ने सियालकोट से कुछ दूरी पर स्पेशल ट्रेनिंग पूरी की है। सुरक्षा एजेंसी सूत्रों के मुताबिक यह ट्रेंड ग्रुप अटैक कर सकता है।
पाकिस्तान की बॉर्डर ऐक्शन टीम क्रॉस बॉर्डर ऑपरेशन और लाइन ऑफ कंट्रोल पर रेड करती है। पाकिस्तान की स्पेशल सर्विसेज ग्रुप (एसएसजी) ने इस टीम का गठन किया है। भारतीय सुरक्षा एजेंसी के सूत्रों के मुताबिक BAT में पाकिस्तान आर्मी के कमांडो के साथ आतंकी भी होते हैं। वह गुरिल्ला लड़ाई में ट्रेंड होते हैं। आतंकियों को BAT में इसलिए शामिल किया जाता है ताकि पकड़े जाने पर पाकिस्तान उन्हें अस्वीकार कर सके।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »